ADVERTISEMENT

लखीमपुर खीरी हिंसा निंदनीय, लेकिन अन्य जगहों की घटनाओं को भी उठाएं- सीतारमण

Lakhimpur violence| घटना को केवल इसलिए न उठाया जाये क्योकि यह घटना बीजेपी शासित राज्य में हुई है- Nirmala Sitharaman

Published
भारत
2 min read
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 
i

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने लखीमपुर में हुई हिंसा (Lakhimpur Kheri violence) को “स्पष्ट रूप से निंदनीय” बताया है. लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसी तरह की घटना देश के दूसरे हिस्सों में भी हो रही हैं. उन घटनाओं को भी उठाना चाहिए, केवल तब नहीं जब यह करना आपके अनुकूल हो.

ADVERTISEMENT

अमेरिकी दौरे पर गयीं वित्त मंत्री सीतारमण ने यह बात मंगलवार, 12 अक्टूबर को हार्वर्ड कैनेडी स्कूल में लखीमपुर हिंसा से जुड़े एक सवाल में जवाब में कहा. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हुई इस हिंसा में 4 किसानों की कार से कुचलकर मौत हो गयी थी, और इसका आरोप केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र पर है.

घटना को केवल इसलिए न उठाया जाए क्योंकि यह घटना बीजेपी शासित राज्य में हुई है- सीतारमण

निर्मला सीतारमण से यह प्रश्न किया गया था कि पीएम मोदी और वरिष्ठ मंत्रिओं ने अबतक इस मामले पर एक भी शब्द क्यों नहीं कहा तथा जब भी ऐसा सवाल किया जाता है तब उनकी “रक्षात्मक प्रतिक्रिया” क्यों होती है.

इस पर वित्त मंत्री ने कहा कि “ ऐसा नहीं. यह अच्छा है कि आपने उस एक घटना को उठाया है जो स्पष्ट रूप से निंदनीय है. हम में से हर-एक ने यही कहा. इसी तरह की घटनाएं अन्य जगह भी हो रही हैं और वह मेरी चिंता है.”

“भारत में इस तरह की घटनाएं देश के कई अलग-अलग हिस्सों में हो रही हैं. मैं चाहती हूं कि आप और कई दूसरे लोग भी, जो पूरे भारत को जानते हैं, ऐसी घटनाओं को उठाएं. केवल तब नहीं जब वह उनके अनुकूल हो, क्योंकि यह घटना बीजेपी शासित राज्य में हुई है, मेरे सहयोगी केंद्रीय मंत्री का बेटा आरोपी हो और यह माना जाए कि उसी ने ऐसा किया है.”

कृषि कानून पास करने से पहले सबसे परामर्श किया गया- सीतारमण

किसानों के विरोध पर एक सवाल के जवाब में निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों पर एक दशक में विभिन्न संसदीय समितियों द्वारा चर्चा की गई थी.

उन्होंने कहा कि 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद केंद्र द्वारा राज्य सरकारों द्वारा इनपर चर्चा की गई है.

"यह अब एक दशक से बन रहा है. हरेक स्टेकहोल्डर्स से परामर्श किया गया है”
निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्त मंत्री

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT