नितिन गडकरी मंच पर हुए बेहोश, अस्पताल में भर्ती कराया गया


नितिन गडकरी, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री
नितिन गडकरी, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री(फोटो:PTI)

नितिन गडकरी मंच पर हुए बेहोश, अस्पताल में भर्ती कराया गया

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की अचानक तबीयत खराब हो गई है. महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक प्रोग्राम के दौरान वो स्टेज पर ही बेहोश होकर गिर पड़े. जिसके बाद आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

ये भी पढ़ों- BOL | सरकार के साथ धंधा नहीं करना चाहिए: नितिन गडकरी

ये घटना उस वक्त हुई जब नितिन गडकरी राष्ट्रगान के लिए खड़े हो रहे थे. उसी समय अचानक से वो बेहोश होकर गिर पड़े. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त महाराष्ट्र के गवर्नर सी विद्यासागर राव भी स्टेज पर मौजूद थे. अहमदनगर के महात्मा फुले एग्रीकल्चरल कॉलेज में नितिन गडकरी कॉन्वोकेशन सेरेमनी के मौके पर पहुंचे हुए थे.

नितिन गडकरी केंद्र सरकार में सड़क परिवहन मंत्री हैं, इसके अलावा उनपर ही गंगा नदी को साफ करने की भी जिम्मेदारी है. आपको बता दें कि इससे पहले भी कई बार नितिन गडकरी की तबीयत खराब हो चुकी है. कुछ समय पहले ही एक रैली के बाद उनकी तबीयत गड़बड़ हो गई थी. गौरतलब है कि नितिन गडकरी ने कुछ साल पहले ही वजन घटाने के लिए ऑपरेशन भी कराया था. नितिन गडकरी भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष रह चुके हैं, अभी नागपुर से सांसद भी हैं.

ये भी पढ़ें- सत्ता में आने के लिए झूठे वादे किए थे, गडकरी जी क्या बोल गए

गडकरी का राजनीतिक सफर

नितिन गडकरी ने 1976 में नागपुर विश्वविद्यालय में भाजपा की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की, बाद में वो 23 साल की उम्र में भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने. 1995 में वो महाराष्ट्र में शिव सेना- भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन सरकार में लोक निर्माण मंत्री बनाए गए और चार साल तक मंत्री पद पर रहे. 1989 में वे पहली बार विधान परिषद के लिए चुने गए, वे आखिरी बार 2008 में विधान परिषद के लिए चुने गए. वे महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता भी रहे हैं. साल 2012 में वो सबसे कम उम्र वाले बीजेपी अध्यक्ष बने थे. उसके बाद 2014 में उन्होंने नागपुर से सांसद का चुनाव जीता और मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री बने.

Follow our भारत section for more stories.

    वीडियो