PAN को आधार कार्ड से लिंक करना न भूलें, बरना बढ़ेगी परेशानी

पैन और आधार कार्ड को लिंक करने की आखिरी तारीख बढ़ा दी गई है.

Updated03 Jan 2020, 11:57 AM IST
भारत
2 min read

अगर आपने अभी तक पैन कार्ड (PAN) को आधार कार्ड (Aadhaar Card) से अभी तक लिंक नहीं किया है, तो यह आपके लिए जरुरी खबर है. Permanent Account Number (PAN) को आधार कार्ड से लिंक करने की डेडलाइन 31 दिसंबर थी. हालांकि अब इसे बढ़ाकर मार्च 2020 तक कर दी गई है. अगर आपने अभी तक पैन-आधार कार्ड एक-दूसरे से लिंक नहीं कराया तो आपकी परेशानी बढ़ सकती है. इनकम टैक्स विभाग ने आठवीं बार पैन और आधार कार्ड को लिंक करने की डेडलाइन को आगे बढ़ाया है.

पैन कार्ड मान लिया जाएगा अवैध

पहले यह नियम था कि अगर आपने समयसीमा से पहले आधार और पैन कार्ड को लिंक नहीं कराया तो पैन कार्ड अवैध माना जाएगा. अवैध का मतलब था कि ये मान लिया जाएगा कि आपके पास पैन कार्ड नहीं है. हालांकि, अब इसे ऑपरेटिव नहीं माना जाएगा, यानी 1 जनवरी 2020 से आप आयकर, निवेश या लोन से जुड़ा कोई भी काम नहीं कर पाएंगे. इन कामों के लिए पैन और आधार का एक-दूसरे से लिंक होना अनिवार्य है.

मार्च तक का मौका

केंद्र सरकार ने पहले 30 सितंबर तक पैन कार्ड को अपने आधार कार्ड से लिंक कराने की समयसीमा रखी थी, जिसे बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दिया गया था. अब यह तारीख मार्च 2020 तक बढ़ा दी गई है.

घर बैठे ऐसे करा सकते हैं लिंक

पैन को आधार कार्ड से लिंक करने के लिए आयकर विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं. बाईं तरफ Link Aadhaar के ऑप्शन पर क्लिक करें. अगर आपका अकाउंट नहीं बना है तो सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करें. लॉगिन करने के बाद खुले पेज पर प्रोफाइल सेटिंग चुनें. अब आधार कार्ड का विकल्प चुनना होगा. यहां पर अपने आधार कार्ड की जानकारी और कैप्चा कोड भरें. इसके बाद नीचे लिंक आधार के ऑप्शन पर क्लिक करें.

एसएमएस के जरिए पैन-आधार कार्ड को लिंक करने के लिए 567678 या 56161 पर मैसेज भेजकर लिंक करवाया जा सकता है.

पैन-आधार कार्ड लिंक करने का डायरेक्ट लिंक

पैन-आधार कार्ड को एक-दूसरे से लिंक करने के लिए यहां पर क्लिक करें.

अगर आपने पैन-आधार कार्ड को एक-दूसरे से पहले ही लिंक करा लिया है, तो उसका स्टेटस चेक करने के लिए यहां क्लिक करें.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 09 Dec 2019, 12:34 PM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!