किसान आंदोलन: PM ने बताई FDI की ‘नई फुल फॉर्म’, सावधान रहने को कहा

प्रदर्शनकारी किसानों को कई विदेशी हस्तियों का समर्थन मिलने के बीच पीएम का बयान

Published
भारत
1 min read
पीएम नरेंद्र मोदी
i

केंद्र के 3 नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को कई विदेशी हस्तियों का समर्थन मिलने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को एफडीआई की 'नई फुल फॉर्म' बताई.

उन्होंने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा का जवाब देते हुए कहा, ''देश प्रगति कर रहा है. हम एफडीआई की बात कर रहे हैं- फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट. लेकिन मैं देख रहा हूं कि इन दिनों एक नया एफडीआई मैदान में आया है. इस नए एफडीआई से देश को बचाना चाहिए. ये नया एफडीआई है- फॉरेन डिस्ट्रक्टिव आइडियोलॉजी.''

इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा,

  • ''हम लोग कुछ शब्दों से बड़े परिचित हैं- श्रमजीवी, बुद्धिजीवी. लेकिन मैं देख रहा हूं कि पिछले कुछ समय से इस देश में एक नई जमात पैदा हुई है. एक नई बिरादरी सामने आई है. और वो है आंदोलनजीवी.''
  • ''ये जमात आप देखोगे तो वकीलों का आंदोलन हो वहां नजर आएगी, छात्रों का आंदोलन हो वहां नजर आएगी. मजदूरों का आंदोलन हो, वहां भी नजर आएगी. कभी पर्दे के पीछे, कभी पर्दे के आगे.''
  • ''ये पूरी टोली है, ये आंदोलन के बिना जी नहीं सकते हैं. हमें ऐसे लोगों को पहचानना होगा. देश आंदोलनजीवी लोगों से बचे. ये सारे आंदोलनजीवी परजीवी होते हैं.''

किसानों के मुद्दों को लेकर पीएम मोदी ने कहा, ''मैं सदन को विश्वास दिलाता हूं कि मंडियां और आधुनिक होंगी. एमएसपी था, है और रहेगा. 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को सस्ते में राशन मिलता रहेगा.''

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!