नेताओं को वापस स्कूल जाने की जरूरत: कैलाश सत्यार्थी


नोबेल पुरस्‍कार विजेता कैलाश सत्‍यार्थी. (फोटो: Facebook)
नोबेल पुरस्‍कार विजेता कैलाश सत्‍यार्थी. (फोटो: Facebook)

नेताओं को वापस स्कूल जाने की जरूरत: कैलाश सत्यार्थी

हाल ही में बच्चों के खिलाफ बढ़ती हिंसा और रेप की घटनाओं के खिलाफ नोबेल पुरुस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कड़ी टिप्पणी की है. उन्होंने नेताओं को सामान्य पेरेंट के तौर पर स्कूल जाने की सलाह दी है.

ऐसा करने से नेताओं को स्थिति की असलियत पता चलेगी और स्कूलों को बच्चों के लिए कैसे सेफ बनाया जाए, इस बात की भी समझ बनेगी.

सत्यार्थी ने स्कूलों में बढ़ती असुरक्षा पर चिंता जताई. उन्होंने कहा,

मैं देश भर के पूरे राजनीतिक समुदाय से मांग करता हूं कि वे स्कूलों में ऑर्डिनरी पैरेंट के तौर पर जाएं. खुद चीजें देखें, खुद माहौल को महसूस करें और उनसे (स्कूल प्रशासन) सवाल करें. स्कूल हमारे बच्चों के लिए स्वर्ग की तरह होना चाहिए. यह प्रताड़ित करने की जगह नहीं होनी चाहिए. जब तक हम इनके खिलाफ सीधा एक्शन नहीं लेंगे, तब तक हमारे बच्चे परेशान होते रहेंगे. हम भारत को बच्चों के लिए सुरक्षित देश नहीं बना पाएंगे.
कैलाश सत्यार्थी

सत्यार्थी ने ये सब बातें भारत यात्रा मार्च के मौके पर चेन्नई में कहीं. 11 सितंबर से शुरू हुई भारत यात्रा बुधवार को चेन्नई पहुंची. भारत यात्रा पूरे देश में बच्चों की सुरक्षा के लिए चालू की गई है.