ADVERTISEMENT

लखीमपुर: टिकैत की चेतावनी के बाद कार्यक्रम में नहीं शामिल हुए अजय मिश्र टेनी

ये पहला मौका नहीं है जब अजय मिश्र किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए हैं.

Updated
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p>अजय मिश्र टेनी</p></div>
i

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) की चेतावनी के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी (Ajay Mishra Teni) ने लखीमपुर में चीनी मिल के उद्घाटन समारोह का कार्यक्रम रद्द कर दिया है. बता दें कि लखीमपुर खीरी के संपूर्णानगर में किसान सहकारी चीनी मिल के '37वें पेराई सत्र के शुभारंभ' पर अजय मिश्र टेनी को मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचना था, निमंत्रण कार्ड भी लोगों को भेज दिया गया था, जिसपर मिश्र का नाम चीफ गेस्ट के रूप में लिखा था, लेकिन अजय मिश्र इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए.

ADVERTISEMENT

दरअसल, राकेश टिकैत ने लखनऊ में हुए किसान महापंचायत में चेतावनी दी थी कि अगर अजय मिश्र वहां पर उद्घाटन करेंगे तो किसान उनका विरोध करेंगे, साथ ही मिल में गन्ना नहीं पहुंचेगा. टिकैत ने कहा था,

"अगर टेनी (अजय मिश्र) चीनी मिल का उद्घाटन करने आते हैं, तो उस चीनी मिल में कोई गन्ना नहीं ले जाया जाएगा. बल्कि किसान गन्ना जिलाधिकारी के कार्यालय ले जायेंगे, चाहे उन्हें कितना भी नुकसान हो."

बता दें कि किसान संगठन केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे और गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर आरोप है कि उसने लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को किसानों को अपनी गाड़ी से कुचल दिया था. जिसमें चार किसानों और एक पत्रकार की मौत हो गई थी. आशीष मिश्रा फिलहाल जेल में है. लेकिन किसान अब टेनी के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

अजय मिश्र के ना आने पर जिला प्रशासन की ओर से लखीमपुर खीरी के एडीएम संजय कुमार इस कार्यक्रम में शामिल हुए. लखीमपुर खीरी के एडीएम संजय कुमार ने कहा, 'उन्हें (मिश्र) पहले आमंत्रित किया गया होगा, लेकिन उनका कार्यक्रम रद्द कर दिया गया. बाद में जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह को कार्यक्रम का उद्घाटन करना था, लेकिन वे नहीं हो सका. इसलिए, मैंने भाग लिया. ” यह पूछे जाने पर कि अजय मिश्र क्यों शामिल नहीं हुए, उन्होंने कहा, “हो सकता है कि उनका कोई और कार्यक्रम रहा हो. वो ही बता सकते हैं कि वो क्यों नहीं आए.”

ये पहला मौका नहीं है जब अजय मिश्र किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए हैं, इससे पहले रविवार को लखनऊ में डीजीपी और आईजी के वार्षिक सम्मेलन के अंतिम दिन भी शामिल नहीं हुए थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT