ताज के ‘हाल’ पर सुप्रीम कोर्ट नाराज,कहा संभाल नहीं सकते तो ढहा दें
प्रदूषण से ताज को बचाने में कोताही बरतने से सुप्रीम कोर्ट नाराज 
प्रदूषण से ताज को बचाने में कोताही बरतने से सुप्रीम कोर्ट नाराज  (फोटो: iStock)

ताज के ‘हाल’ पर सुप्रीम कोर्ट नाराज,कहा संभाल नहीं सकते तो ढहा दें

सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल के रखरखाव को लेकर केंद्र सरकार, आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया और यूपी सरकार को जम कर लताड़ लगाई. अदालत ने कहा कि अगर ताजमहल का संरक्षण नहीं कर सकते तो इसे ढहा दें. ताजमहल के खराब रखरखाव पर नाराज कोर्ट ने कहा कि या तो वह इसे बंद करवा देगा या फिर इसे ढहाने का आदेश देगा.

ताज पर यूपी सरकार की भी खिंचाई

सुप्रीम कोर्ट ताज के रखररखाव को लेकर यूपी सरकार के रवैये को लेकर खासा नाराज दिखा. कोर्ट ने कहा कि ताजमहल को संरक्षित करने के लिए वह विजन डॉक्यूमेंट लाने में नाकाम रहा है.

जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच इस बात से काफी खिन्न थी कि अधिकारियों ने ताज को संरक्षित करने के लिए कदम नहीं उठाया. बेंच ने कहा कि अधिकारियों ने इस मामले में सरासर कोताही बरती.

ये भी पढ़ें : ताजमहल है फिल्मकारों की सबसे पसंदीदा शूटिंग स्पॉट

बेंच ने कहा, ताजमहल को संरक्षित करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखती. ताजमहल को संरक्षित करना होगा वरना हम इसे बंद करने या ढहाने का आदेश दे देंगे.

ताज से कमाते हैं हम विदेशी मुद्रा

अदालत ने कहा ताजमहल एफिल टावर से भी खूबसूरत है इससे देश की विदेशी मुद्रा की समस्या काफी हद तक दूर होती है. कोर्ट ने कहा कि अस्सी लाख लोग एफिल टावर देखने जाते हैं जो देखने में टीवी टावर जैसा लगता है. हमारा ताज ज्यादा खूबसूरत है. अगर आप इसकी अच्छी तरह से देखभाल करते हैं तो इससे खासी विदेशी मुद्रा की कमाई हो सकती है.

ताजमहल को संरक्षण को लेकर यूपी सरकार के रवैये पर भी सुप्रीम कोर्ट नाराज 
ताजमहल को संरक्षण को लेकर यूपी सरकार के रवैये पर भी सुप्रीम कोर्ट नाराज 
(फोटोः Twitter)

बेंच ने कहा कि सरकार ने ताज के संरक्षण का कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. जबकि संसद की स्थायी समिति ने ताज के संरक्षण पर रिपोर्ट भी दी है. केंद्र ने बेंच को बताया कि आईआईटी कानपुर ताज और इसके आसपास वायु प्रदूषण का जायजा ले रहा है. चार महीने के अंदर इस पर रिपोर्ट जारी कर दी जाएगी.

केंद्र ने कहा कि ताज के इर्द-गिर्द प्रदूषण के स्त्रोत का पता लगाने के लिए स्पेशल कमेटी बनाई गई है, जो इसे रोकने के उपाय सुझाएगी. ताज के संरक्षण पर 31 जुलाई से सुप्रीम कोर्ट में हर दिन सुनवाई होगी.

ये भी पढ़ें : ताजमहल की हालत पर SC ने लगाई फटकार, पूछा- ये रंग कैसे बदल रहा है?

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our भारत section for more stories.

    वीडियो