ADVERTISEMENT

भारत में डेल्टा से गई थी 240,000 जानें, ओमिक्रॉन भी बरपा सकता है कहर: UN

भारत में ओमिक्रॉन ने तेज रफ्तार पकड़ ली है जिसकी वजह से आने वाले समय में अर्थव्यवस्था को भी चोट पहुंच सकती है

Published
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p> कोरोना गाइडलाइंस </p></div>
i

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की एक रिपोर्ट बताती है कि भारत में डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) ने अप्रैल-जून 2021 में कोरोना (Corona) ने दूसरी लहर के दौरान 2,40,000 जाने ले ली थी और अर्थव्यवस्था को भी भारी नुकसान पहुंचाया था. संयुक्त राष्ट्र ने चेताया है कि भारत में ऐसा मंजर एक बार फिर देखने को मिल सकता है.

ADVERTISEMENT

संयुक्त राष्ट्र की वर्ल्ड इकनॉमिक सिचुएशन एंड प्रस्पेक्ट्स (WESP) 2022 की रिपोर्ट भी यही बताती है क्योंकि पहले ही भारत में ओमिक्रॉन ने तेज रफ्तार पकड़ ली है जिसकी वजह से आने वाले समय में अर्थव्यवस्था को भी चोट पहुंच सकती है.

संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग के अंडर सेक्रेटरी लियू जेनमिन ने कहा, "कोरोना से लड़ने के लिए एक समन्वित और निरंतर वैश्विक दृष्टिकोण बनाना होगा, जिसमें हर देशों तक वैक्सीन की पहुंच शामिल है, महामारी की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था के जोखिम जारी रहेगा."

भारत में अब तक 150 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी है, फिलहाल वैक्सीनेशन ही कोरोना के खिलाफ एक मात्र इलाज दिखता है. जिस तरह कोरोना की दूसरी लहर के पहले डेल्टा वेरिएंट के मामले बढ़ रहे थे वैसे ही अब डेल्टा की जगह ओमिक्रॉन के मामलों ने भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में तेजी पकड़ ली है.

इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि किस तरह से कहीं पर वैक्सीन की पहुंच और कहीं पर वैक्सीन की पहुंच न होने से देशों में वैक्सीनेशन की दर कहीं बहुत ज्यादा है तो कहीं बहुत कम.

रिपोर्ट बताती है कि एक तरफ बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान जैसे छोटे देश हैं जहां 26 फीसदी आबादी को भी कोरोना की दोनों डोज नहीं लग पाई वहीं दूसरी ओर मालदीव, भूटाल और श्रीलंका जैसे देश हैं जहां 64 फीसदी आबादी को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज मिल चुक हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT