ADVERTISEMENT

दिल्ली-NCR में छाया घना कोहरा, पूर्व-मध्य भारत में बारिश की संभावना

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में कड़ाके की सर्दी के अंत का मनाया गया जश्न

Updated
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p>दिल्ली-NCR में&nbsp;छाया घना कोहरा</p></div>
i

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 14 और 15 जनवरी को पूर्वी और आसपास के मध्य भारत में बारिश की संभावना जताई है, जो इसके बाद काफी कम हो जाएगी और अगले चार-पांच दिन उत्तर भारत में बहुत घना कोहरा रहेगा.

ADVERTISEMENT
एक पश्चिमी विक्षोभ 16 और 17 जनवरी को उत्तर-पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करेगा और दूसरा पश्चिमी विक्षोभ 18 से 20 जनवरी तक उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित करेगा.

एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ है, जिसे ऊपरी क्षोभमंडल स्तरों में एक ट्रफ के रूप में देखा जाता है और एक अन्य ट्रफ है जो उत्तर आंतरिक कर्नाटक से उत्तरी आंतरिक ओडिशा तक निचले क्षोभमंडल स्तरों में चलती है. निचले क्षोभमंडल स्तरों में दक्षिण कोंकण के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. उपरोक्त प्रणालियों के प्रभाव में 14 जनवरी को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में हल्की बारिश/बर्फबारी होने की संभावना है.

दिल्ली-NCR में छाया घना कोहरा, पूर्व-मध्य भारत में बारिश की संभावना

(फोटो: PTI)

IMD ने कहा कि बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, तेलंगाना और तटीय आंध्र प्रदेश में शुक्रवार को हल्की/मध्यम बारिश होने की संभावना है और 14 जनवरी को विदर्भ और छत्तीसगढ़ में हल्की/मध्यम बारिश हो सकती है.

14 और 15 जनवरी को अरुणाचल प्रदेश में और असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 15 जनवरी तक अलग-अलग बारिश होने की संभावना है.

IMD ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और निचले क्षोभमंडल के स्तर पर दक्षिण तमिलनाडु में एक चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव के तहत अगले पांच दिनों के दौरान तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल और माहे में अलग-अलग हल्की वर्षा/गरज के साथ बौछारें पड़ेंगी.

ADVERTISEMENT

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में कड़ाके की सर्दी के अंत का मनाया गया जश्न

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में न्यूनतम तापमान 13 जनवरी को फ्रीजिंग प्वाइंट से नीचे बना रहा. घाटी में 21 दिसंबर से शुरू हुई 'चिल्लई कलां' के नाम से जानी जाने वाली कड़ाके की सर्दी की 40 दिनों की लंबी अवधि 31 जनवरी को समाप्त होगी.

दिल्ली-NCR में छाया घना कोहरा, पूर्व-मध्य भारत में बारिश की संभावना

(फोटो: PTI)

जम्मू क्षेत्र में, 'लोहड़ी' का त्योहार परंपरागत रूप से कड़ाके की सर्दी के अंत के प्रतीक के रूप में मनाया जा रहा है.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि रात के तापमान में और गिरावट आने की संभावना है. अगले 48 घंटों के दौरान दिन के तापमान में वृद्धि होने की संभावना है क्योंकि इस अवधि के दौरान आमतौर पर मौसम शुष्क रहता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT