कौन है रितेश पांडेय जिसे बीएसपी ने बनाया नेता लोकसभा

बीएसपी प्रमुख मायावती ने अब एक बार फिर ब्राम्हण कार्ड चला है.

Published14 Jan 2020, 05:00 PM IST
भारत
2 min read

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने संगठन में एक बार फिर बदलाव किया है. माना जा रहा है कि वोट बैंक की गणित सेट करने के लिए बीएसपी प्रमुख मायावती ने अब एक बार फिर ब्राह्मण कार्ड चला है.

बीएसपी प्रमुख मायावती ने लोकसभा में पार्टी के नेता दानिश अली को हटाकर सांसद रितेश पांडेय को यह जिम्मेदारी सौंप दी है. वहीं मलूक नागर को उपनेता बनाया गया है. इस फेरबदल में प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली की कुर्सी हालांकि सलामत है.

मायावती ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में लालजी वर्मा (पिछड़े वर्ग से) को और विधान परिषद में दिनेश चंद्रा (दलित वर्ग से) को पार्टी नेता के पद पर बरकरार रखा है.

बीएसपी का दलित ब्राह्मण समीकरण

सूत्रों के अुनसार, ब्राह्मण समाज में बीजेपी के प्रति मोह कम होने पर बीएसपी नजर बनाए हुए है. कांग्रेस की ओर ब्राह्मणों का रुझान न हो, इसलिए बीएसपी ने बड़ा बदलाव किया है. बीएसपी में दलित ब्राह्मण समीकरण को आजमाया जाता रहा है.

कौन है रितेश पांडेय?

रितेश पांडेय बीएसपी के नेता है जो 2014 के लोकसभा चुनाव में यूपी के अंबेडकरनगर सीट से जीत हासिल की थी. रितेश पांडेय ने बीजेपी के बड़े नेता बिहारी वर्मा को शिकस्त दी थी. रितेश पांडेय को अंबेडकर नगर सीट विरासत में मिली है.

2019 से पहले उनके पिता 2009 अंबेडकर नगर सीट पर चुनाव जीत चुके हैं. हालांकि 2014 में वह चुनाव हार गए थे. 2019 में रितेश ने इस सीट को जीतकर बीजेपी से हार का बदला लिया था.

रामवीर उपाध्याय के बगावती तेवरों के बाद से प्रदेश में ब्राह्मण चेहरे के तौर पर युवा सांसद रितेश पांडेय को आगे करना एक प्रयोग के तौर पर देखा जा रहा है. ज्ञात हो कि दानिश अली को करीब दो माह पूर्व ही दल नेता की जिम्मेदारी सौंपी गई थी.

इनपुट आईएएनएस से भी

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!