सीएम योगी ने कहा- SC का फैसला निष्पक्ष, एकता बनाए रखें

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर फैसला देते हुए विवादित 2.77 एकड़ जमीन को हिंदू पक्ष को देने का फैसला किया.

Published09 Nov 2019, 10:54 AM IST
भारत
2 min read

अयोध्या की राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया है. आदित्यनाथ ने कहा है कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत है. देश की एकता और सद्भाव बनाए रखने में सभी को सहयोग करना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि उत्तर प्रदेश में शांति, सुरक्षा और सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरीके से प्रतिबद्ध है.

उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट में कहा है, श्री राम जन्मभूमि पर माननीय सुप्रीम कोर्ट का सर्वसम्मति से निर्णय भारतीय कानून व्यवस्था की निष्पक्षता का जीवंत रूप है.

मुख्यमंत्री ने लिखा, यह भारतीय चिंतन मूल्य, सह-जीवन, सह-अस्तित्व, सहयोग और सहकार की भावना का परीक्षा काल है. पूरे विश्व की नजर भारत की तरफ है. आइये, प्रभु श्री राम के धैर्य और मर्यादा का अनुसरण करते हुए शांति, सद्भाव और समरसता को दृढ़ता प्रदान कर अपने आचरण से विश्व को प्रभु श्री राम का संदेश दें.

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर शनिवार को फैसला देते हुए विवादित 2.77 एकड़ जमीन को हिंदू पक्ष को देने का फैसला किया. साथ ही कोर्ट ने मस्जिद निर्माण के लिए मुस्लिम पक्ष के लिए 5 एकड़ जमीन दूसरी जगह पर देने का आदेश दिया.

फैसला देने वाली 5 जजों की बेंच ने यह माना है कि विवादित स्थल के बाहरी बरामदे में हिंदू व्यापक रूप से पूजा-अर्चना करते रहे.

कोर्ट ने केंद्र सरकार को राम मंदिर बनाने के लिए तीन महीने में एक ट्रस्ट बनाने का निर्देश दिया गया है. साथ ही कहा कि निर्मोही अखाड़े को भी ट्रस्ट में जगह दी जाएगी.

इस फैसले पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख भागवत ने कहा कि कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया है, अब सरकार अपना काम करेगी. हम राम मंदिर बनाएंगे.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!