ADVERTISEMENT

Jharkhand: हाथ में लकड़ी का माइक, नन्हे रिपोर्टर ने खोली अपने स्कूल की पोल

Jharkhand: सफरराज ने अपने वीडियो में शिक्षकों की पोल भी खोली कि वे अपनी उपस्थिति दर्ज कर स्कूल से गायब हो जाते हैं.

Updated
न्यूज
2 min read

झारखंड (Jharkhand) में गोड्डा जिले के एक स्कूल का वीडियो वायरल हुआ है, इस वीडियो में एक बच्चा हाथ में लकड़ी का माइक लिए रिपोर्टर की भूमिका में नजर आ रहा है और स्कूल की बदहाली की तस्वीर को सबके सामने ला रहा है.

आरोप है कि वीडियो वायरल होने के बाद स्कूल के शिक्षक ने नन्हे रिपोर्टर के घर जा कर उसके परिवार वालों को धमकाया.

ADVERTISEMENT

यह मामला जिले के महगामा ब्लॉक का है जहां भिखीयाचक के एक उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय के एक पूर्व छात्र ने रिपोर्टर की भूमिका निभाते हुए स्कूल की समस्याओं पर वीडियो बनाया है.

वीडियो में लकड़ी और प्लास्टिक की बोतल का माइक लिए 12 साल के सरफराज खान ने स्कूल की बदहाली का वीडियो बनाया. सरफराज स्कूल में हर जगह पर जा कर बता रहा है कि स्कूल में ना शौचालय है, ना ही पीने के पानी की व्यवस्था. वीडियो में शिक्षकों की पोल भी खोली कि वे अपनी उपस्थिति दर्ज कर स्कूल से गायब हो जाते हैं.

वीडियो वायरल होने के बाद सरफराज ने आरोप लगाया कि स्कूल के शिक्षक ने उसके घर पहुंचकर उसकी मां को धमकाया है. सरफराज ने बताया कि, "शिक्षक ने कहा कि बेटे को समझा दो, नहीं तो थाने में शिकायत कर देंगे."
ADVERTISEMENT

छोटे भाई को अच्छी शिक्षा मिले इसलिए बनाया वीडियो

इस वीडियो में सरफराज खान ने यह भी दिखाया कि स्कूल में गंदगी का अंबार है. कक्षा में भी कचरा भरकर उस कमरे को बंद कर दिया गया. मिड डे मील के लिए खाना बनाने वाली जगह पर भी गंदगी रहती है. स्कूल में सफाई नहीं होती.

जब सरफराज से पूछा गया कि वीडियो बनाने का क्या कारण है तब उसने बताया कि-

जब मैं पढ़ता था, तब भी यहीं हालात थे, पढ़ाई होती नहीं है. कोई सुविधा नहीं है. अब मेरे छोटे भाई इसी स्कूल में पढ़ते हैं इसलिए यह वीडियो वायरल किया है.

सरकार से स्कूल में सुधार की मांग करते हुए सरफराज ने कहा कि उसके भाई और वहां पढ़ने वाले बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले इसलिए उसने ऐसा किया है.

ADVERTISEMENT

प्रशासन तक पहुंची नन्हे बच्चे की वायरल 'रिपोर्ट'

गोड्डा जिले के महगामा के प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रवीण चौधरी ने क्विंट को बताया कि उनके पास 3 अगस्त को यह वीडियो आया था जिसके बाद 4 अगस्त को एसडीओ के साथ मिलकर उन्होंने स्कूल का दौरा किया. उन्होंने कहा कि वहां कई सारी अनियमितताएं मिली.

क्विंट से बातचीत में उन्होंने कहा कि, "हम जब स्कूल पहुंचे तो हमने देखा कि विडियो में जो भी समस्याएं दिखाई गई हैं उन पर लीपापोती करने की कोशिश की गई. मामले की विस्तृत जांच कर कलेक्टर को रिपोर्ट भेजी गई है और शिक्षकों पर कार्रवाई करने के लिए भी लिखा गया है."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  jharkhand 

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×