ADVERTISEMENT

UP: कानपुर में रहस्यमयी बीमारी से 12 की मौत

Kanpur Viral Fever: कुरसौली के सभी ग्रामीणों की डेंगू जांच कराई गई, जिसमें सभी निगेटिव पाए गए हैं.

Published
न्यूज
2 min read
<div class="paragraphs"><p>कानपुर के कुरसौली गांव में काम करता एक हेल्थ वर्कर</p></div>
i

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के एक गांव कुरसौली में एक रहस्यमयी वायरल बीमारी से अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है. गांव के सभी ग्रामीणों का डेंगू टेस्ट किया गया, जिसमें कोई भी पॉजिटिव नहीं पाया गया. फिलहाल, एक ऑडिट कमेटी मौतों के कारण का पता लगाने में जुटी है.

ADVERTISEMENT

बता दें फिरोजाबाद जिले में भी वायरल बुखार और डेंगू के कारण दो और मौतों के साथ मरने वालों की संख्या 62 हो गई है. लेकिन, फिलहाल कानपुर का मामला एकदम अलग पाया गया है, क्योंकि यहां डेंगू से कोई भी व्यक्ति पीड़ित नहीं है.

समाचार एजेंसी ANI के इनपुट्स के मुताबिक, कानपुर नगर जिले के अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी (ACMO) डॉ सुबोध प्रकाश (Dr. Subodh Prakash) ने कहा कि गांव में मच्छरों के लार्वा की तलाश के लिए लगातार जांच की जा रही है.

"यहां (कुरसौली गांव) 12 लोगों की मौत संभवत: एक वायरल बीमारी के कारण हुई है. इनमें डेंगू का मामला नहीं मिला है. इन मौतों के कारणों का पता लगाने के लिए एक डेथ ऑडिट कमेटी का गठन किया गया है. घरों में मच्छरों के लार्वा का पता लगाने के लिए हम (कुरसौली गांव में) सर्वे भी कर रहे हैं. हमारी चिकित्सा टीम स्थिति से निपटने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही है."
डॉ. सुबोध प्रकाश, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, कानपुर नगर जिला
ADVERTISEMENT

कानपुर में बुखार से पीड़ित 250 से अधिक लोग हुए भर्ती

इससे पहले, एजेंसी द्वारा यह बताया गया था कि वायरल बुखार के प्रकोप के कारण कानपुर में पिछले एक महीने में कई बच्चों सहित 250 से अधिक लोग अस्पताल में भर्ती हुए थे.

लाला लाजपत राय अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि कुछ रोगियों में डेंगू और मलेरिया का पता चला था, लेकिन अब तक किसी की मौत नहीं हुई है.
एक बाल अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि लगभग 200 बच्चों का इलाज बुखार, तपेदिक आदि बीमारियों के मद्देनजर किया जा रहा है.

फिरोजाबाद में भी हो चुकी हैं बुखार से कई मौतें

इस बीच, फिरोजाबाद में भी किसी वायरल बीमारी के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ी है, एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कई टीमें प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए काम कर रही हैं. उन्होंने कहा कि कम्युनिकेबल डिजीज स्पेशलिस्ट डॉ. जी एस बाजपेयी के नेतृत्व में एक मेडिकल टीम गुरुवार को टूंडला गयी थी और शुक्रवार को फिरोजाबाद शहर और शिकोहाबाद में प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया गया था.

ADVERTISEMENT

बता दें कि फिरोजाबाद के डीएम चंद्र विजय सिंह ने मीडिया से बात करते हुए जानकारी दी थी कि पिछले महीने अगस्त के दूसरे हफ्ते में डेंगू और वायरल बुखार के फैलने के बाद से 60 मौतें दर्ज की गई हैं.
हालांकि, सरकारी मौत का आंकड़ा सिर्फ 60 पर है, लेकिन लोकल मीडिया रिपोर्ट्स में बुखार से होने वाली मौतों का आंकड़ा 150 से ऊपर है.

केंद्र सरकार के निर्देश पर स्वच्छ भारत मिशन के निदेशक एसबी सिंह भी फिरोजाबाद पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया था. अधिकारी ने बताया कि विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है और लार्वा रोधी छिड़काव किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT