AIADMK का आरोप,केंद्र सरकार ने रोका तमिलनाडु का फंड
बीजेपी के लिए चुनाव से पहले एक और चुनौती
बीजेपी के लिए चुनाव से पहले एक और चुनौती(फोटो: PTI/IANS/Altered by The Quint)

AIADMK का आरोप,केंद्र सरकार ने रोका तमिलनाडु का फंड

लोकसभा चुनाव नजदीक हैं, ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां जोड़-तोड़ की राजनीति में जुट गई हैं. किसी के गठबंधन की खबरें आ रही हैं, तो कोई गठबंधन छोड़ने की धमकियां दे रहा है. हाल ही में टीडीपी ने बीजेपी का दामन छोड़ा है. लेकिन अब बीजेपी के लिए AIADMK(अन्नाद्रमुक) मुसीबत खड़ी कर सकता है. बीजेपी का समर्थन करने वाली AIADMK ने आरोप लगाया है कि केंद्र तमिलनाडु का फंड रिलीज नहीं कर रहा है.

ये भी पढ़ें : गठबंधन के लिए शिवसेना का नया फार्मूला, BJP से इतनी सीटों की मांग

AIADMK के बड़े आरोप

AIADMK ने बीजेपी की केंद्र सरकार पर बड़े आरोप लगाए हैं. उनका आरोप है कि केंद्र सरकार जानबूझकर तमिलनाडु का फंड रिलीज नहीं कर रही है. AIADMK के डिप्टी स्पीकर थंबी दुरई ने कहा कि केंद्र सरकार को तमिलनाडु का 20 हजार करोड़ रुपये का फंड जारी करना था, लेकिन इसे रोका गया है.

रोजगार के मुद्दे पर घेरा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक AIADMK ने सिर्फ राज्य के फंड पर ही बीजेपी को नहीं घेरा, बल्कि उन्होंने रोजगार न देने के आरोप भी लगाए हैं. उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाए कि राज्य में नई नौकरियां पैदा नहीं की गईं. इसके अलावा बीजेपी को नोटबंदी और जीएसटी लागू करने पर भी खरी-खोटी सुनाई है.

बीजेपी लोकसभा चुनाव से पहले कई राज्यों में गठजोड़ के गणित में उलझी है. जहां टीडीपी जैसे दल पहले ही साथ छोड़ चुके हैं, वहीं अब शिवसेना जैसी पार्टियां बीजेपी के सामने बड़ी चुनौती पेश कर रही हैं और गठबंधन में सबसे आगे रहने की होड़ शुरू है

बीजेपी को लग सकता है झटका

बीजेपी का समर्थन करने वाली AIADMK की नाराजगी झेलना बीजेपी के लिए आसान बात नहीं है. लोकसभा चुनाव में तमिलनाडु की इस बड़ी पार्टी का सहयोग बीजेपी को काफी जरूरी है. ऐसे में बीजेपी को चुनाव से ठीक पहले झटका लग सकता है.

AIADMK नेता ने दिए थे संकेत

कुछ ही दिनों पहले AIADMK के नेता का एक बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि आगामी लोकसभा चुनावों में तमिलनाडु में पार्टियों के अपने गठबंधन की अगुवाई करेगी. उन्होंने कहा था कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है. जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि उन्होंने बीजेपी गठबंधन के लिए यह संकेत दिए हैं.

ये भी पढ़ें : फडणवीस बोले- गठबंधन मजबूरी नहीं, ‘हिंदुत्‍व’ पर साथ देगी शिवसेना

(My रिपोर्ट डिबेट में हिस्सा लिजिए और जीतिए 10,000 रुपये. इस बार का हमारा सवाल है -भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कैसे सुधरेंगे: जादू की झप्पी या सर्जिकल स्ट्राइक? अपना लेख सबमिट करने के लिए यहां क्लिक करें)


Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

    वीडियो