फडणवीस बोले- गठबंधन मजबूरी नहीं, ‘हिंदुत्‍व’ पर साथ देगी शिवसेना
बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की राह नहीं आसान 
बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की राह नहीं आसान (फोटो: पीटीआई)

फडणवीस बोले- गठबंधन मजबूरी नहीं, ‘हिंदुत्‍व’ पर साथ देगी शिवसेना

शिवसेना-बीजेपी के बीच संभावित गठबंधन को लेकर शिवसेना नेताओं के बयान के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने स्‍थ‍िति साफ की है. महाराष्ट्र बीजेपी की एकदिवसीय राज्य कार्यकारिणी की बैठक में फडणवीस ने कहा कि केंद्र में ‘चोरों के हाथों में सत्ता की चाबी’ न जाए, इसलिए बीजेपी गठबंधन की कोशिश कर रही है.

फडणवीस ने कहा, ''अगर कोई गठबंधन को बीजेपी की मजबूरी समझ रहा है, तो उसे मैं बताना चाहता हूं कि अगर साथ आए, तो ठीक, नहीं तो उनके बगैर भी हम चुनाव लड़ेंगे और जीतेंगे.''

दूसरी ओर बीजेपी से संभावित गठबंधन के मुद्दे पर शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पार्टी नेताओं के साथ मुंबई में मुलाकात की. इस मीटिंग के बाद शिवसेना नेताओं ने इस बारे में सारे अधिकार पार्टी प्रमुख के हाथों में दे दिए.

ये भी पढ़ें : सीट बंटवारे पर बोली शिवसेना- महाराष्ट्र में हम ‘बिग ब्रदर’ रहेंगे

कांग्रेस-एनसीपी पर बरसे फडणवीस

इस मौके पर पार्टी के नेताओं को संबोधित करते हुए फडणवीस ने कांग्रेस और एनसीपी पर जमकर तीर बरसाए.

महाराष्ट्र की जनता हमारे साथ है. कांग्रेस-एनसीपी के नेता कितने भी झूठे आरोप लगाने की कोशिश करें, वे कामयाब नहीं हो पाएंगे. एनसीपी ने रायगढ़ से अपनी परिवर्तन यात्रा शुरू की और वहां की जनता ने आज हुए चुनाव में उन्हें सबक सिखा दिया है. बीजेपी ने विदर्भ के गढ़चिरौली नगरपालिका चुनाव में जीत हासिल की है. हमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है. जो नेता एक-दूसरे का चेहरा देखना पसंद नहीं करते थे, वे डर की वजह से आज साथ दिखाई दे रहे हैं. लेकिन ये पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामों को हरा नहीं सकती हैं.
देवेंद्र फडणवीस, मुख्यमंत्री, महाराष्ट्र 

हिंदुत्व मुद्दे के आधार पर हो सकता है गठबंधन

शिवसेना के साथ गठबंधन की खबरों के बारे में देवेंद्र फडणवीस ने हिंदुत्व का मुद्दा सामने रख दिया. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा, ''जो लोग हिंदुत्व की विचारधारा पर काम करते हैं, मुझे भरोसा है कि वे हमारे साथ आएंगे.''

फडणवीस के इस बयान से ये तो साफ हो गया है कि शिवसेना की और से लगातार हो रही बयानबाजी के बाद भी गठबंधन के दरवाजे बीजेपी ने अभी बंद नहीं किए हैं.

बैठक में गठबंधन पर चर्चा

सूत्रों के मुताबिक शिवसेना के संसादो के साथ आज उद्धव ठाकरे की बैठक में उद्धव ने संसादो से कहा कि अगर बीजेपी की और से कोई सम्मान जनक प्रस्ताव आया तो गठबंधन हो सकता है. अपमान सहनकर गठबंधन करना मुश्किल होगा, बैठक में कई संसादो ने बीजेपी के गठबंधन को लेकर अपना समर्थन दिया था जबकि कुछ ने कहा था कि बीजेपी के साथ जाने से मोदी की खराब होती इमेज का असर शिवसेना पर चुनाव में होगा. उद्धव ठाकरे ने मीटिंग में कहा, गठबंधन की चिंता सांसदों को नहीं करनी चाहिए,उसकी जगह अकेले दम पर चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू रखें.

(My रिपोर्ट डिबेट में हिस्सा लिजिए और जीतिए 10,000 रुपये. इस बार का हमारा सवाल है -भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कैसे सुधरेंगे: जादू की झप्पी या सर्जिकल स्ट्राइक? अपना लेख सबमिट करने के लिए यहां क्लिक करें)


Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

    वीडियो