मोदी ने नर्मदा मुद्दे पर मुझसे कभी बात तक नहीं की: मनमोहन सिंह
मनमोहन सिंह के  प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी के फैसलों और दावों पर सवाल
मनमोहन सिंह के प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी के फैसलों और दावों पर सवाल ( फाइल फोटोः PTI)

मोदी ने नर्मदा मुद्दे पर मुझसे कभी बात तक नहीं की: मनमोहन सिंह

गुजरात में पूर्व प्रधानमंत्री के निशाने पर आ गए हैं मौजूदा प्रधानमंत्री. बहुत कम ऐसे मौके आते हैं जब मनमोहन सिंह इतने तीखे और सीधे शब्दों में तीखे वार करें. लेकिन राजकोट में मनमोहन सिंह के तेवरों ने सबको हैरान कर दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री के उस दावे को गलत बताया कि नर्मदा मुद्दे पर यूपीए सरकार ने गुजरात की कोई मदद नहीं की. मनमोहन सिंह ने दावा किया कि वो जब प्रधानमंत्री थे तब मुख्यमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी उनसे कई बार मिले पर एक भी मौके पर नर्मदा बांध या नर्मदा से जुड़ी कोई बात नहीं उठाई.

मनमोहन सिंह के मुताबिक मोदी ने जब भी मुझसे मिलने का वक्त मांगा मैंने हर बार दिया. लेकिन इन मुलाकातों में उन्होंने कभी नर्मदा की चर्चा तक नहीं की. मनमोहन सिंह का दावा अहम है क्योंकि गुजरात चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कई बार आरोप लगाया है कि पूर्व प्रधानमंत्री के सामने नर्मदा मुद्दा उठाने पर भी उनकी मदद नहीं की गई.

लेकिन मनमोहन सिंह सिर्फ यहीं नहीं रुके उन्होंने एक-एक करके कई मुद्दों पर मोदी सरकार को निशाना बनाया.

“ गुजरात के लोग अब बातों में नहीं आएंगे”

मनमोहन सिंह ने कहा कि आप लोगों को हर वक्त मूर्ख नहीं बना सकते और गुजरात के लोग अच्छे दिन के झूठे वादों में आने वाले नहीं है क्योंकि वो जान गए हैं कि बीजेपी अच्छे दिन के नाम पर उन्हें मूर्ख बना रही है.

कांग्रेस के लिए प्रचार पर आए पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा बीजेपी का गुजरात मॉडल गुजरात में ही नहीं चल रहा है. कुछ चुनिंदा बिजनेसमैन को छोड़कर किसी को फायदा नहीं हो रहा है. उनके मुताबिक सामाजिक विकास में गुजरात हिमाचल, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु से पीछे है.

मोदी सरकार की खिंचाई

मोदी सरकार पर मनमोहन सिंह के तीखे वार करने से नहीं चूके. उनके मुताबिक भ्रष्टचार पर बीजेपी की लड़ाई आधी अधूरी है क्योंकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के खिलाफ लगे आरोपों पर सरकार और पार्टी दोनों ने चुप्पी साध ली है.

मनमोहन सिंह के मुताबिक सबसे बड़ा सबूत यही है कि मोदी जी के कहने और करने में कितना फर्क है.

अयोध्या मामले में कपिल सिब्बल विवाद उन्होंने कहा कि राम मंदिर मामला कोर्ट में है और कांग्रेस अदालत के हर फैसले का सम्मान करेगी.

जीएसटी और नोटबंदी से बहुत नुकसान

पूर्व प्रधानमंत्री के मुताबिक नोटबंदी अब तक का सबसे खराब फैसला था जिसने इंडस्ट्री और आम लोगों की कमर तोड़ दी. मनमोहन सिंह के आरोप है कि नोटबंदी के बाद जबरन जीएसटी थोपकर छोटे और मझौले इंडस्ट्री को लगा झटके से उबरने में बहुत वक्त लगेगा.

मनमोहन सिंह के आरोप

  • कांग्रेस ने जीएसटी के बारे में जो प्रस्ताव दिया वो बीजेपी सरकार की जीएसटी से एकदम अलग है
  • मोदी ने पहले जीएसटी का जमकर विरोध किया अब वो जीएसटी की गुणगान कर रहे हैं
  • जीएसटी और नोटबंदी की वजह से ग्रोथ पर बहुत बुरा असर पड़ा है और इन गलत फैसलों से उबरने में देश को 2 साल लग जाएंगे
  • नोटबंदी से कालेधन को सफेद बनाने में मदद मिली
  • साहसी और तबाही वाले फैसलों में फर्क, नोटबंदी ने इकनॉमी को बहुत नुकसान पहुंचाया

गुजरात नहीं समझते मोदी जी

मनमोहन सिंह ने कटाक्ष किया कि मोदी जी कहते हैं वो गुजरात को समझते हैं, लेकिन जीएसटी के मौजूदा स्वरूप से राजकोट और सूरत के कारोबारियों की हालत खस्ता है.मोदी जी ने गुजरातियों के भरोसे को नुकसान पहुंचाया है

पूर्व प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि जीएसटी का इस्तेमाल सिर्फ हैडलाइन और ड्रामा के लिए किया गया, दिमाग नहीं लगाया गया. अब नोटबंदी जैसे नासमझी वाले फैसले दोबारा नहीं होने चाहिए.

  • जीडीपी में 1 परसेंट की कमी मतलब देश को 1.5 लाख करोड़ रुपए का नुकसान
  • देश की इकोनॉमी बुरी स्थिति से चीन को इसका फायदा
  • नोटबंदी से घरेलू इंडस्ट्री बरबाद हुई और चीन को फायदा मिला
  • कांग्रेस के दबाव की वजह से सरकार को जीएसटी मामले में झुकना पड़ा
  • मोदी के 4 साल के शासनकाल में भारत की औसत जीडीपी 7.1 रही है
  • यूपीए के 10 साल के कार्यकाल में औसत जीडीपी 8.5 परसेंट रही

मनमोहन सिंह ने हर मुद्दे पर मोदी सरकार के फैसलों पर सवाल उठाया है. उन्होंने आरोप लगाया खासतौर पर आर्थिक फैसलेे बिना सोचे समझे लिए गए इसलिए उनका बहुत नुकसान हुआ है.

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.