उद्धव को कई बार फोन मिलाया लेकिन उन्होंने बात नहीं की: फडणवीस
शिवसेना-BJP के बीच सुलह की संभावना, 4.30 बजे फडणवीस की कॉन्फ्रेंस
शिवसेना-BJP के बीच सुलह की संभावना, 4.30 बजे फडणवीस की कॉन्फ्रेंस(फोटो: क्विंट हिंदी)

उद्धव को कई बार फोन मिलाया लेकिन उन्होंने बात नहीं की: फडणवीस

महाराष्ट्र की राजनीति के लिए 8 नवंबर को बड़ा दिन था. देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा साथ ही शिवसेना के साथ चल रही पूरी अनबन को प्रेस कॉन्फ्रेंस में सबके सामने रखा. देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि उन्होंने कई बार शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे को फोन किया लेकिन ठाकरे ने बात नहीं की. फडणवीस का कहना है कि शिवसेना जिस तरह से पीएम मोदी को टारगेट कर रही है उससे दुख हो रहा है.

Loading...

फडणवीस के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

  • सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मिलकर इस्तीफा सौंपा
  • महाराष्ट्र चुनाव में हमारे गठबंधन को जनता का साफ बहुमत मिला है, जो काम हमने महाराष्ट्र में किया उसकी वजह से लोगों ने हमें चुनाव में वोट दिया:देवेंद्र फडणवीस
  • ढाई-ढाई साल के सीएम की कोई बात नहीं हुई थी: देवेंद्र फडणवीस
  • मैंने उद्धव को कई बार फोन मिलाया लेकिन उन्होंने बात नहीं की: देवेंद्र फडणवीस
  • नतीजे आने के बाद उद्धव ठाकरे को शुक्रिया कहा था, उन्होंने कहा की सरकार बनाने के हमारे सारे रास्ते खुले है: देवेंद्र फडणवीस
  • हमारी तरफ से बातचीत बंद नहीं हुई है, लेकिन बीजेपी से बातचीत ना करते हुए शिवसेना का कांग्रेस-एनसीपी से बात करने का प्लान ठीक नहीं है: देवेंद्र फडणवीस
  • शिवसेना की और से जो लगातार जिस तरह के बयान आ रहे हैं, उससे केवल दूरी बढ़ेगी और कुछ नहीं हम भी जवाब दे सकते है लेकिन हम उन्हें जवाब नहीं देंगे: देवेंद्र फडणवीस
  • शिवसेना की और से लगातार जिस तरह से पीएम मोदी की टारगेट किया गया उससे हमें दुख हुआ: देवेंद्र फडणवीस

देवेंद्र फडणवीस की प्रेस कॉन्फ्रेंस-

बता दें कि नतीजों के ठीक बाद ही शिवसेना की तरफ से उद्धव ठाकरे ने '50-50 फॉर्मूले' पर सरकार के गठन की बात की थी. शिवसेना की तरफ से कहा गया था कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के सामने 50-50 फॉर्मूले पर सहमति बनी थी. लेकिन इस बात को सीएम देवेंद्र फडणवीस ने खारिज करते हुए कहा था कि ऐसी कोई बात नहीं हुई थी.

रिजॉर्ट पॉलिटिक्स की शुरुआत!

अब विधायकों को खरीदे जाने की खबरों के बीच महाराष्ट्र में रिजॉर्ट पॉलिटिक्स भी शुरू हो चुकी है. जहां शिवसेना विधायकों को होटल में ठहराए जाने की खबरें सामने आईं थीं, वहीं अब कांग्रेस भी अपने विधायकों को बचाने की कोशिश में जुट गई है. कांग्रेस नेता आरोप लगा रहे हैं कि उनके विधायकों से बीजेपी के कुछ नेता लगातार संपर्क कर रहे हैं. जिसके बाद अब कांग्रेस भी सभी विधायकों को एक साथ रखने का फैसला ले सकती है. बताया जा रहा है कि कांग्रेस अपने विधायकों को जयपुर शिफ्ट कर सकती है.

महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं का कहना है कि उनके विधायकों को खरीदने की कोशिश हो रही है. यहां तक कि ये भी आरोप लगाए जा रहे हैं कि विधायकों को बीजेपी की तरफ से करोड़ों रुपये ऑफर किए गए हैं.

ये भी देखें- महाराष्ट्र में BJP को बहुत भारी पड़ रही है संजय राउत की ‘शायरी’

बीजेपी ने कहा- साबित करके दिखाओ

महाराष्ट्र कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी का भी जवाब आया है. महाराष्ट्र बीजेपी के नेता और मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने ऐसे सभी आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी हम लोगों पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगा रहे हैं. कांग्रेस इन आरोपों को 48 घंटे के भीतर साबित करे या फिर महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगे.

ये भी पढ़ें : सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका की SPG सुरक्षा हटाएगी सरकार: सूत्र

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

वीडियो

Loading...