ADVERTISEMENT

Manipur: JDU को लगा बड़ा झटका, 6 में से 5 विधायक BJP में शामिल

Manipur: विधानसभा अध्यक्ष ने जेडीयू के पांचों विधायकों को बीजेपी के विधायक दल में विलय को स्वीकार कर लिया.

Published
Manipur: JDU को लगा बड़ा झटका, 6 में से 5 विधायक BJP में शामिल
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) को मणिपुर (Manipur) में बड़ा झटका लगा है. रिपोर्ट के मुताबिक मणिपुर में जेडीयू के पांच विधायक भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए हैं. इन विधायकों में केएच जॉयकिशन, एन सनाते, मोहम्मद अछबउद्दीन, एएम खाउटे और थांगजाम अरूण कुमार का नाम शामिल हैं.

ADVERTISEMENT
मणिपुर विधानसभा अध्यक्ष ने जेडीयू के पांचों विधायकों को बीजेपी के विधायक दल में विलय को स्वीकार कर लिया.

38 विधानसभा सीटों में से जेडीयू ने जीती थीं 6

मणिपुर विधानसभा के सचिव के मेघजीत सिंह की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया कि अध्यक्ष ने संविधान की दसवीं अनुसूची के तहत जेडीयू के पांच विधायकों के बीजेपी में विलय को स्वीकार किया है. जेडीयू ने इस साल मार्च में हुए विधानसभा चुनाव में 38 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे, जिसमें से 6 सीटों पर जीत मिली थी.

बता दें कि यह दूसरी बार है जब बीजेपी ने पूर्वोत्तर में नीतीश कुमार की पार्टी के विधायकों पर निशाना साधा है. इससे पहले 2020 के दौरान अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू के सात में से 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे.

इस साल मार्च में हुए विधानसभा चुनाव में जेडीयू ने 38 में से 6 सीटों पर जीत हासिल की थीं. इनमें से अब 5 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं. एक विधायक अब भी जेडीयू में है.

ADVERTISEMENT

बता दें कि विधायकों ने यह कदम नीतीश कुमार द्वारा बीजेपी को छोड़ने और तेजस्वी यादव के राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस और अन्य दलों के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाने के हफ्तों बाद आया है.

जेडीयू की तीन दिवसीय बैठक

बिहार की राजधानी पटना (Patna) में चल रहे जेडीयू के तीन दिवसीय मंथन शिविर का आज यानी 3 सितंबर को दूसरा दिन है. जेडीयू के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में करीब 250 नेताओं के शामिल होने की संभावना है. रिपोर्ट के मुताबिक इस मीटिंग में लोकसभा चुनाव 2024 और 2025 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जेडीयू की आगामी रणनीति क्या होगी, इस पर फैसला लिया जाना है.

इसके अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की राष्ट्रीय स्तर पर क्या राजनीतिक भूमिका होगी, सदस्यता अभियान की शुरुआत जैसे कई अहम मुद्दों पर चर्चा करते हुए फैसले लिए जाने हैं. बता दें कि इन दिनों नीतीश कुमार को 2024 में विपक्ष का पीएम कैंडिडेट बनाए जाने की सुर्खियां भी हैं, इस पर भी फैसला लिया जा सकता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×