ADVERTISEMENT

नूंह के मदरसे में मिली 10 साल के बच्चे की लाश, 13 साल के 'बेस्ट फ्रेंड' पर आरोप

Haryana Madrasa Murder: पुलिस के मुताबिक बच्चे ने अपराध कबूल किया है और हत्या की वजह भी बताई है

Published
राज्य
3 min read

हरियाणा (Haryana) के नूंह जिले के शाहचौखा मदरसे में हुए छात्र समीर मर्डर का खुलासा हो गया है. बताया जा रहा है कि समीर को उसके साथी छात्र ने ही मौत के घाट उतारा था. आरोपी छात्र को पुलिस ने जुवेनाइल कोर्ट में पेश कर बाल सुधार गृह भेज दिया है.

ADVERTISEMENT
पलिस पूछताछ में खुलासा हुआ है कि आरोपी छात्र मदरसा में पढ़ना नहीं चाहता था, लेकिन उसके घरवाले उसे मदरसा में पढ़ाना चाहते थे, इसलिए छात्र ने प्लान बनाकर मदरसे को बदनाम करके बंद कराने की नियत से अपने साथी छात्र समीर के साथ मारपीट करके और दीवार में सिर मार कर मौत के घाट उतार दिया था.

समीर को मदरसे के बेसमेंट में बने एक कमरे में ले जाकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया, क्योंकि इस कमरे में कोई आता जाता नहीं था. आरोप है कि छात्र ने शुक्रवार जुम्मे के दिन मदरसा में ज्यादा भीड़ होने की वजह से हत्या के लिए शनिवार का दिन चुना था. हत्या को अंजाम देने के बाद छात्र ने समीर को रेत में दबा दिया था.

पुलिस पूछताछ में आरोपी छात्र ने कबूला कि उसने शनिवार गत 3 सितंबर को इस घटना को अंजाम दिया था. 2 दिन बाद जब मृतक छात्र समीर के शव से बदबू आने लगी तो 5 सितंबर को इस पूरे घटनाक्रम का खुलासा हुआ. बच्चे के गायब होने की खबर 3 सितंबर को ही लग गई थी, मदरसा संचालक सहित समीर के घरवालों ने उसको खूब खोजा, लेकिन वह नहीं मिला. 2 दिन बाद उसका शव मदरसे के ही एक कमरे से संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था.

इस हत्याकांड के बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू की. पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी छात्र ने अपने पिता को 8 सितंबर को इस हत्याकांड के बारे में बता दिया था. हत्याकांड के बाद अधिकतर अभिभावक अपने बच्चों को मदरसे से घर ले गए थे, लेकिन आरोपी छात्र के पिता उसे घर नहीं लेकर गए. जब पुलिस जांच शुरू होने के बाद गत 8 सितंबर को छात्र के घरवाले शाहचौखा मदरसा में पहुंचे तो पुलिस द्वारा सभी से पूछताछ करने से घबराकर आरोपी छात्र ने सारा घटनाक्रम अपने पिता को बता दिया.

आरोपी छात्र के पिता ने पुलिस को दी खबर

9 सितंबर को उसके पिता ने सारा घटनाक्रम पुलिस को बताया. पुलिस ने छात्र से 9 सितंबर और 10 सितंबर को उसके घरवालों की मौजूदगी में पूछताछ की, छात्र बार-बार अपने बयान चेंज कर रहा था. छात्र से उसके पिता और एक अन्य व्यक्ति के सामने दोबारा से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया.

मामले में पुलिस ने जल्दबाजी करने के बजाय क्राइम आफ सीन भी छात्र से घटनास्थल पर कराया. छात्र पुन्हाना खंड के ही एक गांव का रहने वाला है और उसकी उम्र महज 13 साल है. खास बात यह है कि छात्र और मृतक छात्र की आपस में अच्छी पटती थी. दोनों साथ खेलते - कूदते थे और मृतक छात्र समीर आरोपी की बात मानता था, इसीलिए उसने समीर को ही मौत के घाट उतारने का फैसला कर लिया. घटना के तकरीबन 1 सप्ताह बाद ही पिनगवां पुलिस ने सीआईए तावडू की मदद से पूरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया है.

थाना प्रभारी सतबीर सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि शाहचौखा मदरसा हत्याकांड का खुलासा हो गया है. आरोपी छात्र को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसे जुवेनाइल कोर्ट में पेश कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया हे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×