Qलखनऊ: नमक-रोटी मिड डे मील मामले में नया मोड़,पुलिस को योगी की सलाह

Qलखनऊ में पढ़ें उत्तर प्रदेश की तमाम बड़ी खबरें 

Updated
राज्य
5 min read
Qलखनऊ में पढ़ें उत्तर प्रदेश की तमाम बड़ी खबरें 
i

मिड डे मील में नमक-रोटी पर खबर बनाने पर पत्रकार के खिलाफ FIR

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में मिड डे मील में नमक के साथ रोटी खिलाने के मामले में एक नया मोड़ आया है. अब इस मामले में वीडियो बनाने और पूरी घटना को लोगों तक पहुंचाने वाले पत्रकार और अन्य व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. बताया जा रहा है कि दोनों पर गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया है. एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि पत्रकार ने फर्जी तरीके से स्कूल में जाकर वीडियो बनाया. इसके अलावा उसकी मंशा पर भी सवाल खड़े किए गए हैं. वहीं शिक्षा विभाग की छवि खराब करने को लेकर भी आरोप लगाए गए हैं.

एफआईआर में दावा किया गया है कि पत्रकार पवन कुमार जायसवाल ने ग्राम प्रधान की मदद लेकर ये वीडियो बनाया. प्रधान ने ही पत्रकार को बुलाया. बताया गया कि रसोइया उस दिन सब्जी लेने के लिए नहीं गया. जिसके बाद यह सूचना प्रधान को मिली और उसने पत्रकार को बुलाकर नमक रोटी वाला वीडियो बनाया. दावा किया गया है कि स्कूल के मिड डे मील में पहले कभी कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई.

पत्रकार के खिलाफ FIR पर बेसिक शिक्षा मंत्री बोले- जांच कराएंगे

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के प्राथमिक विद्यालय में मिड डे मील में बच्चों को नमक-रोटी खिलाने की घटना का विडियो बनाने वाले पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इस पर बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने सोमवार को कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए और यह कैसे हुआ, इस मामले की पड़ताल होगी. सतीश द्विवेदी ने मीडिया से बातचीत में कहा, "लखनऊ पहुंचकर अपने विभाग और मिर्जापुर के पुलिस अधीक्षक से पूरी जानकारी लेकर पूरे मामले की पड़ताल की जाएगी. भ्रष्टाचार या कोई अन्य तथ्य उजागर करने पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए. मिर्जापुर में मिड-डे मील को लेकर जो घटना घटी थी, उस घटना से इसका कितना संबंध है, पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट मांग कर इस बारे में बता पाऊंगा."

“हमने उस घटना पर विभागीय कार्रवाई की थी. अब उसमें पुलिस ने किस आधार पर पत्रकार पर कार्रवाई की है, देखना होगा. उसी मामले में या किसी और मामले में कार्रवाई हुई है, पूरी जानकारी के बाद ही बता पाऊंगा.”
-सतीश द्विवेदी, बेसिक शिक्षा मंत्री, उत्तर प्रदेश

बता दें कि जिलाधिकारी के आदेश पर मामले में खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय द्वारा सिऊर गांव निवासी राजकुमार पाल और पत्रकार पवन कुमार जायसवाल के खिलाफ आइपीसी की धारा 186, 193,120 बी एवं 420 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है. 22 अगस्त को प्राइमरी स्कूल सिऊर में बच्चों को नमक-रोटी खिलाने का विडियो वायरल हुआ, जिसके बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी के ट्रांसफर सहित एबीएसए और स्कूल के प्रिंसिपल और शिक्षकों को सस्पेंड करने की कार्रवाई की गई थी.

पुलिस बल को जनता की अपेक्षाओं और विश्वास पर खरा उतरना होगा: योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि पुलिस बल को अपनी व्यावसायिक दक्षता और कार्यकुशलता के आधार पर आधुनिक तकनीक को अपनाते हुए प्रदेश के आमजन की अपेक्षाओं और विश्वास पर खरा उतरना होगा. योगी ने कहा कि पुलिस को सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ते हुए भविष्य की चुनौतियों से निपटने की भी तैयारी रखनी होगी. उन्होंने कहा कि पुलिस पीड़ित व्यक्ति को समयबद्ध ढंग से न्याय दिलाने की प्रक्रिया का हिस्सा बने. मुख्यमंत्री लखनऊ के गोमती नगर विस्तार में उत्तर प्रदेश पुलिस के नये मुख्यालय भवन के लोकार्पण अवसर पर पुलिस अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे.

पुलिस बल को नये मुख्यालय भवन के लिए बधाई और शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि यह भवन अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त है. इसकी सार्थकता तभी सिद्ध होगी जब पुलिस बल प्रदेश में आम नागरिक को कानून का राज और सुशासन उपलब्ध कराने में अपनी भूमिका को और अधिक कार्यकुशलता के साथ निभाएगा.

मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश पुलिस के इतिहास में इस दिन को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि आज से लगभग 82 साल पूर्व वर्ष 1937 में उत्तर प्रदेश पुलिस का शिविर कार्यालय प्रयागराज से लखनऊ स्थानान्तरित हुआ था. तभी से यह कार्यालय पुलिस महानिदेशक मुख्यालय के रूप में कार्य कर रहा था. पुलिस का अपना भवन न होने के कारण काम करने में कठिनाइयां हो रही थीं. इस पुलिस मुख्यालय भवन के निर्माण से पुलिस विभाग की एक बड़ी आवश्यकता पूरी हुई है.

संयुक्त राष्ट्र का अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण सम्मेलन ग्रेटर नोएडा में शुरु

वैश्विक स्तर पर जमीन के बंजर होने की बढ़ती समस्या के कारण भूक्षरण के संकट से निपटने के लिये संयुक्त राष्ट्र की अगुवाई में अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन (कोप 14) सोमवार को ग्रेटर नोएडा में शुरु हो गया. भारत इस सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है. सम्मेलन में हिस्सा ले रहे लगभग 196 देशों के प्रतिनिधि इस दौरान भूक्षरण रोकने के लिये अपने लक्ष्य तय करेंगे. सम्मेलन का उद्घाटन करते हुये पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इस समस्या से निपटने में भारत वैश्विक साझेदारी के लिये प्रतिबद्ध है. उन्होंने सम्मेलन में सभी देशों की सक्रिय भागीदारी को देखते हुये समस्या के व्यवहारिक समाधान निकलने की अपेक्षा व्यक्त की.
दुनिया भर में जमीन के बंजर होकर रेगिस्तान में तब्दील होने के कारण धूल भरे तूफान और सूखे की समस्या के गहराते संकट के समाधान खोजने के लिये आयोजित सम्मेलन में 94 देशों के पर्यावरण मंत्रियों ने शिरकत की है. सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में भारत को कोप 14 की अध्यक्षता भी सौंपी गयी. पिछले दो साल से यह जिम्मेदारी चीन के पास थी.

जावड़ेकर ने कहा कि जलवायु परिवर्तन, वैश्विक समस्या है और इसका प्रभाव भी वैश्विक ही है. लेकिन भूक्षरण की समस्या स्थानीय स्तर की होने के कारण इसके समाधान भी स्थानीय स्तर पर ही निकालने होंगे. इसमें अंतरराष्ट्रीय अनुभव विभिन्न देशों के लिये मददगार साबित होगा. इसके मद्देनजर उन्होंने कोप सम्मेलन के बेहतर परिणाम की उम्मीद जतायी.

इस दौरान भूक्षरण से निपटने के लिये संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (यूएनसीसीडी) के कार्यकारी सचिव इब्राहिम थियू ने कहा कि कोप की यह बैठक अब तक का सबसे बड़ा सम्मेलन साबित हुआ है. उन्होंने बताया कि यूएनसीसीडी के 25वें स्थापना वर्ष में आयोजित इस सम्मेलन में शामिल होने के लिये विभिन्न देशों के लगभग 8000 प्रतिनिधियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. 13 सितंबर तक चलने वाले इस सम्मेलन में विभिन्न देशों के मंत्री एवं अन्य प्रतिनिधि बंजर हो चुकी जमीन को उपयोग में लाये जाने के लक्ष्यों की घोषणा कर सकते हैं. इस दौरान भूक्षरण के कारण धूल भरे तूफान, अंधड़ और पलायन जैसी समस्या के समाधान पर भी विस्तार से विचार विमर्श किया जायेगा.

पति ने पत्नी की गोली मारकर हत्या की, फिर खुद कर ली खुदकुशी

मुजफ्फरनगर.में सोमवार सुबह एक पति ने घरेलू विवाद के चलते पहले पत्नी को गोली मारकर हत्या की फिर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. पुलिस के मुताबिक, खतौली क्षेत्र के ग्राम लाडपुर निवासी मनोज ने पारिवारिक कलह के कारण पहले पत्नी को गोली मारी फिर खुद आत्महत्या कर ली. दंपती की मौके पर ही मौत हो गई.
पुलिस ने बताया कि मृतक 45 साल का था और पेस्टीसाइड की दुकान चलाता था जबकि पत्नी 42 साल की थी और ब्यूटी पार्लर पार्लर चलाती थी. दोनों का एक 18 साल का बेटा है, जो चेन्नई में बीटेक कर रहा है. सीओ आशीष प्रताप सिंह का कहना है कि शुरुआती जांच में पारिवारिक कलह के कारण आत्महत्या का मामला सामने आया है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

ये भी पढ़ें - Qपटना: नए नारे के साथ JDU का चुनावी आगाज, जस्टिस राकेश कुमार बहाल

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!