ADVERTISEMENT

महाराष्ट्र में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां शुरू, कई चीजों पर रहेगी रोक

जानिए महाराष्ट्र में क्या लगाए गए प्रतिबंध?

Updated
राज्य
2 min read
महाराष्ट्र में नई सख्त पाबंदियों का ऐलान
i

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में कोरोना को लेकर नई पाबंदियों का ऐलान किया था, जो कि 14 अप्रैल की रात 8 बजे से लागू हो रही हैं. ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र में हालात काफी गंभीर हैं और अस्पतालों पर दबाव है. सीएम ठाकरे ने कहा कि सख्त कदम उठाने का वक्त आ गया है. मैं लॉकडाउन की बात नहीं कर रहा हूं. लेकिन जो पाबंदियां लगाई जा रही हैं, वो लॉकडाउन की तरह ही हैं. रोजी रोटी जरूरत है, लेकिन जान बचाना भी जरूरी है.

महाराष्ट्र में क्या लगाए गए प्रतिबंध?

  • कल रात को 8 बजे से ब्रेक द चेन अभियान लागू किया जाएगा, पूरे राज्य में धारा 144 लागू रहेगी.

  • पूरे राज्य में अगले 15 दिनों तक संचारबंदी लागू की जाएगी, बिना जरूरत के आना जाना बंद करना होगा

  • अगर जरूरी काम नहीं है तो आप घर के बाहर नहीं निकलेंगे, इसे जनता कर्फ्यू जैसा समझें

  • जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी सेवाएं और दफ्तर बंद रहेंगे

  • ट्रांसपोर्टेशन बंद नहीं हो रहा है, ये सभी चीजें सिर्फ जरूरी चीजों के लिए खुली रहेंगीं

  • जो कंस्ट्रक्शन के लोग हैं, उनसे विनती है कि जहां पर काम चल रहा है वहीं मजदूरों के रहने की व्यवस्था करें

  • रेस्टोरेंट में आप टेक अवे कर सकते हैं, वहां बैठकर खाना नहीं खा सकते हैं

  • गरीबों कार्ड धारकों को तीन महीने तक तीन किलो गेंहूं और दो किलो चावल मुफ्त दिए जाएंगे, शिवभोजन थाली को पहले 5 रुपये में दिया जाता था, उसे अब मुफ्त में दिया जाएगा

  • कंस्ट्रक्शन में काम करने वाले मजदूरों को 1500 रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी. हमारे पास 12 लाख मजदूरों रजिस्टर हैं, जिन्हें ये मदद दी जाएगी.

  • रजिस्ट्रेशन वाले हॉकर्स को भी आर्थिक मदद दी जाएगी, इसके अलावा परमिट होल्डर रिक्शा चालकों को भी 1500 रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी

ADVERTISEMENT

सीएम ठाकरे ने कहा कि, मुझे ये कहना है कि इस बार कोरोना के मरीजों की संख्या भयावह है. हम सभी व्यवस्था को देख रहे हैं, आरोग्य सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है. ऑक्सीजन बेड, वेंटिलेटर बेड, आइसोलेशन बेड बढ़ाने का काम कर रहे हैं.

सीएम ठाकरे ने नए डॉक्टरों और रिटायर हो चुके डॉक्टरों से अपील करते हुए कहा कि वो भी इस लड़ाई में आकर हमारा साथ दें. ठाकरे ने कहा कि सभी राजनीतिक पार्टियों को मैं ये कहना चाहता हूं कि ये समय किसी पर उंगली उठाने का नहीं है. सभी राजनीतिक पार्टियों को एक साथ बिठाकर ये बताने की जरूरत है. ये समय एक साथ आकर इस संकट से लड़ना होगा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT