ADVERTISEMENT

दिल्ली का IGI एयरपोर्ट 2030 तक नेट जीरो कार्बन एमिशन एयरपोर्ट बनेगा

IGI Airport पर टैक्सीबॉट की शुरुआत हुई है साथ ही इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने पर जोर दिया जा रहा है.

Published
भारत
1 min read
दिल्ली का IGI एयरपोर्ट 2030 तक नेट जीरो कार्बन एमिशन एयरपोर्ट बनेगा
नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी का इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा (आईजीआईए) 2030 तक नेट जीरो कार्बन एमिशन एयरपोर्ट बन जाएगा।

डायल के सीईओ विदेह कुमार जयपुरियार ने कहा, दिल्ली हवाईअड्डे पर, हम एक मजबूत पर्यावरण प्रगति यात्रा पर हैं और हमें एयरपोर्ट कार्बन एक्रेडिटेशन दिशानिर्देशों का पालन करते हुए 2030 तक शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन हवाईअड्डा बनने का विश्वास है।

इस दिशा में हमने विभिन्न पर्यावरणीय रूप से स्थायी कार्यक्रम शुरू किए हैं, जैसे टैक्सीबॉट की शुरुआत, इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाना आदि।

तकनीकी शब्दों में, कार्बन न्यूट्रल कार्बन उत्सर्जन में वृद्धि न करने और ऑफसेट के माध्यम से कार्बन में कमी प्राप्त करने की नीति को संदर्भित करता है।

--आईएएनएस

एसजीके

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT