राजस्थान:HC के आदेश के खिलाफ SC पहुंचे विधानसभा स्पीकर,पूरा ब्योरा

इस बीच राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने बुधवार को राज्य सरकार के एक प्रस्ताव को तीसरी बार वापस लौटा दिया,

Published29 Jul 2020, 03:58 PM IST
राज्य
2 min read

राजस्थान विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है. हाई कोर्ट ने 24 जुलाई को सचिन पायलट और 18 अन्य विधायकों के खिलाफ कार्रवाई पर रोक लगाई थी. अब स्पीकर ने अपनी याचिका में इस फैसले पर रोक लगाने की मांग के साथ ही ये भी कहा है कि राजस्थान हाईकोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के संविधान पीठ के तय किए गए मुद्दों के खिलाफ जाकर अनुशासनहीनता की है.

विधानसभा सत्र का प्रस्ताव तीसरी बार लौटाया राज्यपाल ने लौटाया

इस बीच राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने बुधवार को राज्य सरकार के एक प्रस्ताव को तीसरी बार वापस लौटा दिया, जिसमें एक विशेष विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की गई थी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल के इस कदम को एक 'प्रेम पत्र' कहा है, और इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस के बागी विधायकों के प्रति नरमी भी दिखाई है.

अधिकारियों ने कहा कि राज्यपाल ने राजस्थान में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर आपत्ति उठाई है और फिर से जानना चाहा है कि विशेष सत्र के दौरान विधानसभा में सोशल डिस्टैंसिंग कैसे रखी जाएगी.

इस बीच, मिश्रा द्वारा प्रस्ताव लौटाने के बारे में जानकारी मिलने के तत्काल बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राज्यपाल से मिलने पहुंचे.

मैं पूछूंगा कि वो क्या चाहते हैं: गहलोत

गहलोत ने यहां राज्य कांग्रेस कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थान के राज्यपाल की तरफ से एक 'प्रेम पत्र' आया है. उन्होंने मुलाकात से पहले पार्टी कार्यालय में कहा, "मैं उनसे मिलने जा रहा हूं और पूछूंगा कि वह क्या चाहते हैं."

मुख्यमंत्री ने राज्यपाल के इंकार को दूसरी बार प्रेम पत्र कहा है. इसके पहले उन्होंने इस शब्द का इस्तेमाल फेयरमोंट होटल में कांग्रेस विधायकों को संबोधित करते हुए किया था.

गहलोत ने दावा किया है कि उनकी सरकार को गिराने की एक साजिश रची गई है. लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि पार्टी एक राजनीतिक साजिश के खिलाफ मजबूती से खड़ी है.

असंतुष्टों पर नरमी बरतते हुए उन्होंने कहा कि जिन्होंने अतीत में कांग्रेस को धोखा दिया है, वे पार्टी खेमे में लौट सकते हैं और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी माग लें.

गोविंद सिंह बने नए अध्यक्ष

मुख्यमंत्री पीसीसी के कार्यक्रम में बोल रहे थे, जहां नए पीसीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कार्यभार ग्रहण किया. गोविंद सिंह को सचिन पायलट ने भी बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट में ये भी लिखा कि उम्मीद है कि बिना दबाव के आप काम करेंगे.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!