Q लखनऊ: राहुल-प्रियंका का लखनऊ में भव्य स्वागत,मथुरा में पीएम मोदी
Q लखनऊ: राहुल-प्रियंका का लखनऊ में भव्य स्वागत,मथुरा में पीएम मोदी
(फोटो: Altered by Quint Hindi)

Q लखनऊ: राहुल-प्रियंका का लखनऊ में भव्य स्वागत,मथुरा में पीएम मोदी

लखनऊ में राहुल और प्रियंका का हुआ भव्य स्वागत

सोमवार का दिन लखनऊ के लिए हलचल भरा रहा. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, ज्योतिरादित्य सिंधिया यहां रोड शो के लिए पहुंचे थे. प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस महासचिव बनने के बाद सोमवार को पहली बार लखनऊ पहुंची थी. यहां हजारों कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी के रोड शो के दौरान उनका स्वागत किया. प्रियंका के साथ उनके भाई राहुल गांधी ने लखनऊ की सड़कों पर खुली बस में रोड शो किया.

लखनऊ में सुरक्षाबलों के लिए उत्साहित भीड़ को संभालना काफी मुश्किल काम रहा. काफिले में अन्य नेताओं के अलावा प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल थे. लोगों ने प्रियंका गांधी का जमकर उत्साह बढ़ाया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे लगाए.

वृंदावन में मोदी ने बच्चों को खिलाया हाथों से खाना

(फोटो:Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को बिल्कुल अलग अंदाज में वृंदावन में आयोजित अक्षयपात्र के एक कार्यक्रम में बच्चों को अपने हाथ से भोजन कराया. पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हाथ से बच्चों को खाना परोसा. पीएम नरेंद्र मोदी सोमवार को यूपी के गवर्नर राम नाईक और सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ वृंदावन में अक्षय पात्र फाउंडेशन के एक प्रोग्राम में पहुंचे थे.

इस दौरान पीएम मोदी ने गरीब और वंचित वर्ग के बच्चों को अपने हाथों से खाना परोसकर खिलाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्कूली बच्चों को थाली परोसी और खुद भी उनके साथ बैठकर भोजन किया. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने बच्चों के साथ बातें और जमकर हंसी-ठिठोली भी की और उन्हें अपने हाथों से खाना भी खिलाया.

अक्षयपात्र एक नॉन प्रॉफिट ओर्गनाइजेशन है जो गरीब स्कूली बच्चों को मिड डे मील उपलब्ध कराती है. सोमवार को अक्षयपात्र के तीन अरब थाली के मुकाम तक पहुंचने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी ने बच्चों को खाना परोसा. अक्षयपात्र को दुनिया की सबसे बड़ी रसोई के तौर पर भी जाना जाता है.

योगी ने कहा ‘राम वहीं पैदा हुए थे विवाद खत्म’

यूपी विधानसभा की कार्यवाही के दौरान सोमवार को सीएम योगी ने सदन में राम मंदिर का राग अलापा. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जब इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा है कि जहां राम लला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है. साथ में सीएम योगी ने कहा कि जब यह तय है कि वो राम जन्मभूमि है तो इस विवाद का समाधान करने में 24 घंटे से 25वां घंटा नहीं लगना चाहिए.

सीएम योगी ने सोमवार को विधानसभा में कहा, 'इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा है कि जहां राम लला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है तो मेरा यह मानना है कि विवाद तो वहीं समाप्त हो चुका है. बंटवारे का तो विवाद ही नहीं है. विवाद केवल यह तय होना था कि यह राम जन्मभूमि है या नहीं है.'

पीएम मोदी के बचाव में राजनाथ सिंह की कविता

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यूपी के मुरादाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी के बचाव में एक कविता पढ़ी. जहां एक ओर कांग्रेस पार्टी पीएम मोदी के खिलाफ देशभर में राफेल डील को लेकर मोर्चा खोले हुए है और चौकीदार चोर है के नारे लगा रही है, वहीं गृहमंत्री ने भी एक छोटी सी कविता से पीएम का बचाव किया है.

राजनाथ सिंह की कविता है कि, चौकीदार चोर नहीं है, बल्कि हमारा चौकीदार प्योर है, अगली बार उसका पीएम बनना श्योर(पक्का) है, और यही भारत की समस्याओं का क्योर (समाधान) है.

राम मंदिर के लिए 17 को करेंगे अयोध्या कूच

राम मंदिर विवाद में एक नया मामला सामने आया है, शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि वो 17 फरवरी को अयोध्या कूच करेंगे और 21 फरवरी को राम मंदिर की नींव रखेंगे. इससे पहले प्रयागराज में चल रहे कुंभ में आयोजित एक धर्मसंसद में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती और अन्य संतों ने राम मंदिर निर्माण की तारीख घोषित करते हुए 21 फरवरी की तारीख तय की थी.

लोकसभा चुनाव सिर पर है और राम मंदिर पर सबसे ज्यादा मुखर दिखने वाली संघ परिवार ने राम मंदिर आंदोलन को 4 महीने के लिए रोक दिया है. ऐसे में जब शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने इस कूच की खबर दी है तो ये देखने वाली बात होगी कि संघ परिवार और प्रशासन का क्या रुख सामने आता है.

ये भी पढ़ें : यूपी में राहुल के इरादे देखने के बाद अखिलेश को याद आए पुराने वादे

ये भी पढ़ें : प्रियंका का आगाज तो अच्छा लेकिन 2019 में असर क्या होगा?

(My रिपोर्ट डिबेट में हिस्सा लिजिए और जीतिए 10,000 रुपये. इस बार का हमारा सवाल है -भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कैसे सुधरेंगे: जादू की झप्पी या सर्जिकल स्ट्राइक? अपना लेख सबमिट करने के लिए यहां क्लिक करें)


Follow our राज्य section for more stories.

    वीडियो