ADVERTISEMENT

गुजरात में पकड़े गए दिल्ली दंगों के आरोपी का नहीं है ये वीडियो

वीडियो में दिख रहे शख्स की गिरफ्तारी गुजरात में ही हुई, लेकिन इसका दिल्ली दंगों से अब तक कोई संबंध सामने नहीं आया

Published

स्क्रिप्ट - सर्वजीत सिंह चौहान

वीडियो एडिटर - संदीप सुमन

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसे शेयर कर दावा किया जा रहा है कि इसमें गुजरात में भरूच पुलिस का ''लाइव ऑपरेशन'' दिख रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि पुलिस ने दिल्ली दंगों के एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दावे में आरोपी की पहचान 'सिराज मोहम्मद अनवर' के रूप में की गई है.

<div class="paragraphs"><p><strong>पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/P98T-XRUL"><a href="https://perma.cc/P98T-XRUL">यहां</a> </a>क्लिक करें</strong></p></div>

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

ADVERTISEMENT

लेकिन, ये सच नहीं है

हमने वीडियो वेरिफिकेशन टूल InVid का इस्तेमाल कर, वीडियो को कई कीफ्रेम में बांटा. और हर एक कीफ्रेम को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करके देखा. हमें 2 जुलाई को यूट्यूब पर अपलोड किया गया एक वीडियो मिला.

वीडियो के कैप्शन में लिखे हैशटैग से पता चलता है कि ये गुजरात के अहमदाबाद का वीडियो है.

यहां से क्लू लेकर, हमने घटना से जुड़े जरूरी कीवर्ड सर्च किए. हमें टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट मिली. जिसके मुताबिक, अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने गुजरात में पाटन जिले के अमरपुरा गांव के एक ढाबे से एक शख्स को गिरफ्तार किया है. शख्स की पहचान किशोर लुहार के रूप में हुई है.

ADVERTISEMENT

वीडियो का दिल्ली दंगों से नहीं है कोई संबंध

1 जुलाई को पब्लिश इस रिपोर्ट के मुताबिक, लुहार कथिर रूप से लूट और बलात्कार जैसे कई अपराधों में शामिल था.

इसके बाद, हमने अहमदाबाद के डिप्टी कमिश्नर (क्राइम) चैतन्य मंडलिक से बात की. उन्होंने हमें बताया कि वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा झूठा है. आरोपी का दिल्ली दंगों से संबंध नहीं है.

हालांकि, एक अन्य घटना में, भरूच पुलिस ने 29 जून को मोहम्मद सिराज अनवर नाम के एक शख्स को आर्म्स एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है. लेकिन अभी तक की जांच में ऐसा कुछ भी सामने नहीं आया है कि आरोपी का दिल्ली दंगा मामले से कोई संबंध है.

ADVERTISEMENT

हमने भरूच लोकल क्राइम ब्रांच पुलिस इंसपेक्टर जेएन जाला से बात की. उन्होंने हमें बताया कि वायरल वीडियो भरूच मामले से संबंधित नहीं है. और जिस शख्स को गिरफ्तार किया गया है, अब तक की जांच में उसका दिल्ली दंगों से कोई संबंध नहीं मिला है.

मतलब साफ है कि सोशल मीडिया पर यूजर्स ने वीडियो शेयर कर ये गलत दावा किया है कि वीडियो में गुजरात पुलिस दिल्ली दंगा केस के एक आरोपी को गिरफ्तार करते हुए दिख रही है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT