कपिल देव के निधन की फर्जी खबर वायरल, एकदम स्वस्थ हैं 'पाजी'

इन गलत खबरों का खंडन खुद ही कपिल देव ने किया और अपना एक वीडियो रिलीज किया

Published
वेबकूफ
3 min read
कपिल देव के निधन की फर्जी खबर वायरल, एकदम स्वस्थ हैं 'पाजी'

1983 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीत क्रिकेट टीम के कप्तान रहे कपिल देव (Kapil Dev) फेक न्यूज का शिकार हुए हैं. जब 23 अक्टूबर को कपिल देव की सेहत खराब होने की खबरें आईं तो सोशल मीडिया पर कपिल देव के निधन की फर्जी खबरें फैलाई जाने लगीं. दसअसल कपिल देव को कार्डिएक अरेस्ट हुआ था जिसकी एन्जियोप्लास्टी कर दी गई थी, और अब वो स्वस्थ होकर घर भी लौट आए हैं.

इन गलत खबरों का खंडन खुद ही कपिल देव ने किया और अपना एक वीडियो रिलीज किया.

दावा

सोशल मीडिया यूजर्स ने कपिल देव की फोटो शेयर करते हुए साथ में कैप्शन में दावा किया कि क्रिकेट की बड़ी शख्सियत कपिल देव का निधन हो गया है. कैप्शन में लिखा गया- “भारत का पूरे विश्व में नाम चमकाने वाले और हरियाणा की आन बान व शान पुर्व क्रिकेटर श्री कपिल देव जी के ह्रदयघात से निधन होने पर भावभीनी श्रद्धांजलि |”

आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Facebook)
आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Facebook)

ट्विटर पर भी इसी दावे के साथ कई लोगों ने शेयर किया.

आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Twitter)
आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Twitter)

हमें क्या मिला?

जब ये दावा सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा तो कपिल देव के सहयोगी मदन लाल ने इसका खंडन दिया और सफाई दी.

आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Twitter)

ठीक होने के बाद कपिल देव ने खुद एक वीडियो जारी किया और अपने स्वस्थ होने का समाचार सुनाया. उन्होंने खुद के ऊपर बन रही फिल्म “family of 83” के बारे में भी बात की.

आर्काइव किया गया पोस्ट
आर्काइव किया गया पोस्ट
(Photo: Screenshot/Twitter)

हाल में ही कपिल पाजी एबीपी न्यूज के शो पर भी आए थे. कपिल देव ने धोनी के फॉर्म को लेकर चर्चा भी की थी.

तो साफ है कि कपिल देव की सेहत खराब होने को कुछ लोगों ने उनके निधन की सूचना बताकर वायरल कर दिया. ऐसे लोग वेबकूफ बन गए हैं.

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!