ADVERTISEMENT

US को मिलिट्री बेस इस्तेमाल की इजाजत बिलकुल नहीं मिलेगी: इमरान

Taliban ने किया Imran Khan के बयान का स्वागत

Published
US को मिलिट्री बेस इस्तेमाल की इजाजत बिलकुल नहीं मिलेगी: इमरान
i

पाकिस्तान और अमेरिका के संबंधों में आई दरार और गहरी होती जा रही है. चीन से नजदीकी के बीच प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने एक इंटरव्यू में साफ कहा है कि पाकिस्तान अमेरिका को अपने किसी भी बेस या क्षेत्र का इस्तेमाल 'बिलकुल नहीं' करने देगा. खान ने कहा कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में कार्रवाई के लिए अमेरिका अब पाक जमीन का इस्तेमाल नहीं कर पाएगा.

ADVERTISEMENT

इमरान खान ने HBO Axios के जोनाथन स्वान के साथ इंटरव्यू में अमेरिका के साथ खराब होते रिश्तों का एक और संकेत दिया है. ये इंटरव्यू 20 जून को प्रसारित होगा.

अफगानिस्तान में तालिबान और अल-कायदा के खिलाफ युद्ध के दौरान अमेरिका ने पाकिस्तान के एयरबेस और क्षेत्र से ऑपरेशन लॉन्च किए थे.  

तालिबान ने किया बयान का स्वागत

पीएम इमरान खान ने ये बयान तब दिया, जब उनसे पूछा गया कि क्या पाकिस्तान अल-कायदा. तालिबान और ISIS के खिलाफ काउंटर-टेररिज्म ऑपरेशन्स के लिए CIA को देश में होने की स्वीकृति देंगे.

इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी अमेरिका को मिलिट्री बेस देने की संभावना से इनकार किया था.

तालिबान ने पाकिस्तानी सरकार के फैसले का स्वागत किया है. अमेरिका इस समय अफगानिस्तान से अपनी सेना वापस बुला रहा है.  
ADVERTISEMENT

‘मिलिट्री बेस पर बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला’

न्यू यॉर्क टाइम्स ने कुछ समय पहले ही रिपोर्ट किया था कि पाकिस्तान और अमेरिका के बीच क्षेत्र के मिलिट्री बेस इस्तेमाल पर बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल रहा है.

हालांकि, पाकिस्तानी अखबार डॉन ने विदेश मंत्री कुरैशी के हवाले से बताया था कि पाकिस्तान बातचीत से इनकार करता है और उसका कहना है कि सरकार कभी भी अमेरिका को मिलिट्री बेस नहीं देगी और न ही पाकिस्तान में ड्रोन अटैक की इजाजत नहीं मिलेगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×