ADVERTISEMENT

जब इंटरव्यू लेने वाले ने पुतिन से पूछा कि क्या आप कातिल हैं?

डोनाल्ड ट्रंप बेहद प्रतिभाशाली व्यक्ति थे, नहीं तो वे कभी अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं बनते: व्लादिमीर पुतिन

Updated
जब इंटरव्यू लेने वाले ने पुतिन से पूछा कि क्या आप कातिल हैं?

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ट्रंप को एक रंगीन शख्सियत बताया है. NBC न्यूज को दिए इंटरव्यू में पुतिन ने यह भी कहा कि तमाम मतभेदों के बावजूद वे जो बाइडेन के साथ काम कर सकते हैं.

बता दें कुछ ही दिनों में बाइडेन और पुतिन की मुलाकात होने वाली है. इंटरव्यू के दौरान पुतिन ने टिप्पणी में कहा कि मौजूदा दौर में अमेरिका और रूस के संबंध इतिहास में सबसे निचले स्तर से गुजर रहे हैं.

ADVERTISEMENT
NBC के कीर सिमोन्स के साथ एक विस्तृत इंटरव्यू में ट्रंप पर टिप्पणी करते हुए पुतिन ने कहा, "अब भी मेरा विश्वास है कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बेहद प्रतिभाशाली व्यक्ति थे, नहीं तो वे कभी अमेरिकी राष्ट्रपति नहीं बने होते. वे एक रंगीन शख्सियत के मालिक थे. ट्रंप अमेरिका की पारंपरिक सत्ता प्रतिष्ठानों से नहीं आए थे. वे कभी बड़े स्तर की राजनीति का हिस्सा नहीं रहे. कुछ लोग इसे पसंद करते हैं और कुछ लोग नहीं करते. लेकिन यह एक तथ्य है."

वहीं बाइडेन के बारे में पूछे जाने पर पुतिन ने कहा कि मौजूदा राष्ट्रपति, ट्रंप से बहुत अलग हैं. उन्होंने राजनीति में ही करियर बनाया है. उन्होंने अपना पूरा युवा जीवन राजनीति में बिताया है.

जब पुतिन को इंटरव्यू में आया 'गुस्सा'

इंटरव्यूअर सिमोन्स ने पुतिन से काफी सीधे सवाल पूछे. उन्होंने पुतिन से पूछा क्या आप कातिल हैं. सिमोन्स ने कई लोगों के नाम गिनवाए, जिनकी हत्या का दोष रूस पर लगाया जाता है. सिमोन्स ने एलेक्जेंडर लितविनेंको के बारे में सवाल पूछा तो पुतिन ने सवाल को शब्दों का अपच करार दिया.

पुतिन ने कहा, "मेरे कार्यकाल में चारों तरफ से मेरे ऊपर हर तरह के हमले के किए गए हैं, जिनकी अलग-अलग पृष्ठभूमि और प्रबलता होती थी. लेकिन इसमें से किसी से भी मैं आश्चर्य में नहीं पड़ता. देखिए मैं कठोर दिखना नहीं चाहता, लेकिन ऐसा लगता है कि जैसे यहां शब्दों की उल्टी हो रही है."

एलेक्जेंडर लितविनेंको KGB के पूर्व जासूस थे, जो बाद में ब्रिटेन के नागरिक बन गए थे. 2006 में उनकी जहर देकर हत्या कर दी गई थी, जिसका आरोप रूस पर लगा था.

पुतिन ने उन खबरों को भी फेक न्यूज करार दिया है, जिनमें दावा किया जा रहा था कि रूस ईरान को एडवांस सेटेलाइट सिस्टम देने वाला है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×