पॉडकास्ट | आरे ‘जंगल’ में अमंगल: पेड़ों की मौत के बाद आई ‘राहत’
 आरे ‘जंगल’ में अमंगल: पेड़ों की मौत के बाद आई ‘राहत’
आरे ‘जंगल’ में अमंगल: पेड़ों की मौत के बाद आई ‘राहत’फोटो: क्विंट हिंदी

पॉडकास्ट | आरे ‘जंगल’ में अमंगल: पेड़ों की मौत के बाद आई ‘राहत’

कैसे BMC के एक फैसले ने आम लोगों से लेकर राजनेताओं और बॉलीवुड सेलेब्रिटीज को प्रदर्शन करने के लिए मजबूर कर दिया और क्या विकास के नाम पर 2600 से ज्यादा हरे-भरे पेड़ों का कट जाना जायज है भी या नहीं?

Loading...

ये भी पढ़ें : पॉडकास्ट | RBI पॉलिसी का आपकी जेब और देश के खजाने पर ये पड़ेगा असर

आज सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हुई और कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि मुंबई की आरे कॉलोनी में अब और पेड़ ना काटे जाएं.

लेकिन मामले की सभी याचिकाओं की विस्तार से सुनवाई 21 अक्टूबर को की जाएगी. ऐसे में हम बात करेंगे कि आखिर आरे कॉलोनी में हजारों पेड़ काटे जाने का पूरा मामला क्या है? और विकास Vs पर्यावरण की ये बहस किस दिशा में जा रही है और सरकार इसमें कहां खड़ी है.

आरे जंगल है या नहीं ये तो अब कोर्ट ही तय करेगा. लेकिन आरे कॉलोनी के पेड़ काटे जाने के विरोध में जिस तरह से आम से लेकर बेहद खास लोगों ने अपनी राय रखी, प्रदर्शन किए और कैंपेन चलाए गए वो उम्मीद तो जगाते ही हैं.

ये भी पढ़ें : पॉडकास्ट|‘मुझे कैंसर होने के बाद मेरी 5 साल की बेटी मैच्योर हो गई’

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉडकास्ट section for more stories.

    Loading...