दिल्ली में कम हुए कोरोना केस, क्या वाकई में है राहत भरी खबर?

क्या दिल्ली हर्ड इम्यूनिटी की तरफ बढ़ रही है या फिर टेस्टिंग स्ट्रेटेजी है कम आंकड़ों की वजह?

Published28 Jul 2020, 05:32 PM IST
पॉडकास्ट
1 min read

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में अचानक कोरोना की रफ्तार में कमी आई है. नए मामलों में उछाल का जो ट्रेंड चल पड़ा था वो अब रुक चुका है. 20 जुलाई से 26 जुलाई तक दिल्ली में कोरोना के रोजाना हजार से ज्यादा नए मामलों की पुष्टि हुई है, सिवाय 20 जुलाई को जब कोरोना के इस महीने सबसे कम 954 नए केस कन्फर्म हुए.दिल्ली में जुलाई के तीसरे हफ्ते (13 जुलाई-19 जुलाई) 1200 से 1600 नए मामले रोजाना कन्फर्म हुए, जुलाई के चौथे हफ्ते (20 जुलाई-26 जुलाई) में कोरोना के नए मामले 950 से 1350 के बीच रहे. ये जून के आखिरी हफ्ते की तुलना में आधे से भी कम हैं, जब हर दिन औसतन 3000 से अधिक केस कन्फर्म हो रहे थे.

अब सवाल उठ रहा है कि आखिर दिल्ली में अचानक जुलाई के आखिरी हफ्तों में ऐसा क्या हुआ, जो बेलगाम कोरोना को काबू में किया जा रहा है. क्या दिल्ली में कोरोना के खिलाफ हर्ड इम्यूनिटी की तरफ बढ़ रही है या फिर टेस्टिंग स्ट्रेटेजी की वजह से संक्रमण का ठीक से पता नहीं लग पा रहा है. इन सभी सवालों पर आज पॉडकास्ट में बात करेंगे.

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!