कोरोनावायरस पॉजिटिव होने के बाद भी ‘नेगेटिव’ होने की जरूरत नहीं
कोरोनावायरस के टेस्ट के दौरान पेशेंट्स को किन किन स्टेप से गुजरना पड़ता है
कोरोनावायरस के टेस्ट के दौरान पेशेंट्स को किन किन स्टेप से गुजरना पड़ता हैफोटो: क्विंट हिंदी 

कोरोनावायरस पॉजिटिव होने के बाद भी ‘नेगेटिव’ होने की जरूरत नहीं

कोरोनावायरस का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है. अर्थव्यवस्था से लेकर कारोबार, रोजमर्रा की जिंदगी सब कुछ कोरोनावायरस की चपेट में आ गया है. चारों तरफ सिर्फ कोरोनावायर से जुड़ी अलग-अलग खबरें देखने और पढ़ने को मिल रही हैं. लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों का किस तरह इलाज होता है? कौन से लक्षण देखकर उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती किया जाता है और पॉजिटिव पाए जाने पर वो किस प्रोसेस से गुजरते हैं. इन सभी बातों का जवाब सिर्फ वही दे सकता है जिसने खुद ये सब झेला हो. तो आज इस पॉडकास्ट में कोरोनावायरस से रिकवर होकर निकले लोगों से बात कर ये जानेंगे कि पेशेंट्स को किस तरह ट्रीट किया जाता है, टेस्टिंग कैसे होती है, और हमें ज्यादा घबराने की जरुरत क्यों नहीं है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉडकास्ट section for more stories.

    Loading...