पॉडकास्ट | EC ने VVPAT पर्चियों को हड़बड़ी में क्यों किया नष्ट?

आज बिग स्टोरी पॉडकास्ट में जानिये VVPAT पर्चियों से जुडी क्विंट की एक्सक्लूसिव इन्वेस्टीगेशन के बारे में 

Published
पॉडकास्ट
1 min read
 EC ने खुद इन पर्चियों को डिस्ट्रॉय करने का आदेश क्यों दिया? 
i

लोकसभा चुनाव के चार महीने के अंदर VVPAT की पर्चियां नष्ट कर दी गईं. ये बात क्विंट को चुनाव आयोग के सूचना अधिकारी ने एक RTI के जवाब में बताई है. RTI के जवाब के साथ चुनाव आयोग का 24 सितंबर 2019 का एक लेटर भी मिला, जिसमें सभी स्टेट्स और UTs के चीफ इलेक्शन ऑफिसर को VVPAT की छपी हुई पर्चियों को नष्ट करने का आदेश दिया गया था.

लेकिन जब EC की रूल बुक खुद ये कहती है की कम से कम एक साल तक इन पर्चियों को संभालकर रखना चाहिए, उसके बावजूद EC ने खुद इन पर्चियों को डिस्ट्रॉय करने का आदेश क्यों दिया? ईवीएम और वीवीपैट को लेकर इस तरह के खुलासों से चुनाव आयोग की विश्वनीयता पर कहीं न कहीं सवाल तो खड़े होते हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!