ADVERTISEMENT

ABP-C Voter सर्वे: पंजाब में AAP फिर नंबर-1, कांग्रेस की वापसी मुश्किल

एबीपी-सी वोटर के तीसरे सर्वे के अनुसार बीजेपी के लिए पंजाब में खाता खोलना भी मुश्किल दिख रहा

Updated
<div class="paragraphs"><p>ABP-C Voter सर्वे:&nbsp;पंजाब&nbsp; में किसकी सरकार ?</p></div>
i

5 राज्यों में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनावों ( Assembly Elections 2022) को लेकर एबीपी-सी वोटर का तीसरा सर्वे सामने आया है. नवीनतम सर्वे में भी सितंबर और अक्टूबर महीने में आये सर्वे की तरह ही पंजाब में आम आदमी पार्टी को सबसे अधिक सीट जितने का अनुमान लगाया गया है. लेकिन साथ ही सर्वे के अनुमानों की माने तो AAP को राज्य में मौजूदा सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है.

ADVERTISEMENT

पंजाब के साथ-साथ अगले साल उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भी विधानसभा चुनाव होने हैं. इसी को लेकर एबीपी और सी वोटर ने इन पांच राज्यों के लिए तीसरी बार यह सर्वे कराया है.

AAP अब भी सबसे आगे

केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर बीजेपी के खिलाफ पंजाब में लहर और पंजाब कांग्रेस के अंदरूनी कलह का लाभ सबसे ज्यादा अरविन्द केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को होता दिख रहा है.

117 विधानसभा सीटों वाली पंजाब में AAP को जहां 2017 के चुनाव में मात्र 20 सीट मिले थें वहीं एबीपी-सी वोटर के तीसरे सर्वे में उसे 31 सीटों का फायदा होता दिख रहा है. यानी अनुमान की माने तो AAP 51 सीटों के साथ पंजाब में अगली सरकार बनाने के लिए सबसे बड़ी उम्मीदवार दिख रही है.

हालांकि लगातार तीसरे सर्वे में उसके अनुमानित सीट में कमी आई है. सितंबर में आए सर्वे रिजल्ट में इसके 51 से 57 सीट जीतने का अनुमान लगाया गया था. अक्टूबर में आये दूसरे सर्वे के अनुसार AAP को 49 से 55 सीटें मिल सकती थीं जबकि नवीनतम और तीसरे सर्वे में इसको 47 से 53 सीट जीतने का अनुमान लगाया गया है.

कांग्रेस के लिए राह मुश्किल 

2017 के चुनाव में कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में 77 सीट जीतने वाली कांग्रेस पार्टी को 31 सीट के नुकसान का अनुमान लगाया गया है. यानी सर्वे की माने तो अब चरणजीत सिंह के नेतृत्व वाली सत्ताधारी कांग्रेस को 42 से 50 सीट जीतने का अनुमान है. कांग्रेस को वोट शेयर में भी 3.6% का नुकसान हो सकता है.

पंजाब में बीजेपी हो सकती है 0 पर आउट

एबीपी-सी वोटर के तीसरे सर्वे के अनुसार बीजेपी के लिए पंजाब में खाता खोलना भी मुश्किल दिख रहा है. 2017 में 3 सीट जीतने वाली बीजेपी को 0 से 1 सीट पर जीत का अनुमान लगाया गया है.

साथ ही सर्वे में अकाली दल के 16 से 24 सीट जीतने का अनुमान है. केंद्र सरकार में कृषि कानूनों के मुद्दे पर NDA गठबंधन के अलग हो चुकी अकाली दल के लिए 2017 के नतीजों के अपेक्षा बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जताई गई है. गौरतलब है कि 2017 में अकाली दल को 15 सीट पर जीत मिली थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT