ADVERTISEMENT

IND vs NZ: कोहली के लिए कौन होगा कुर्बान? क्या कप्तान रहाणे पर ही गिरेगी गाज?

कानपुर टेस्ट के लिए अजिंक्य रहाणे को कप्तान बनाया गया था, लेकिन वानखेड़े टेस्ट में विराट कोहली ही कप्तानी संभालेंगे.

Published
विराट कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले डे-नाइट टेस्ट में शतक जड़ा था
i

भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच कानपुर में चल रहे टेस्ट मैच में अब केवल एक दिन का खेल बचा है. इसी के साथ ये चर्चाएं शुरू हो गई हैं कि अगले मैच में विराट कोहली (Virat Kohli) जब मैदान पर लौटेंगे और कप्तानी का जिम्मा संभालेंगे तो कौन सा खिलाड़ी टीम से बाहर जाएगा.

दरअसल कप्तान विराट कोहली को थकान की वजह से न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में आराम दिया गया था, लेकिन 3 से 7 दिसंबर के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले दूसरे टेस्ट में वो वापसी करेंगे.

ADVERTISEMENT

कानपुर टेस्ट में टीम में पांच विशेषज्ञ बल्लेबाज शामिल हैं. इसके अलावा रिद्धीमान साहा विकेटकीपर, 3 ऑलराउंडर और 2 तेज गेंदबाज खेल रहे हैं. जाहिर है कि विराट एक बल्लेबाज के तौर पर आएंगे तो एक बल्लेबाज को ही टीम बाहर जाना होगा, लेकिन सवाल ये है कि वो कौन होगा ?

ओपनर्स में फेरबदल मुश्किल 

के एल राहुल के चोटिल होने के बाद मयंक अग्रवाल और शुभमन गिल ने कानपुर टेस्ट में ओपिंग की भूमिका निभाई है. इसमें पहली पारी में शुभमन गिल ने 52 रनों की पारी खेलकर अपने फॉर्म में होने का संकेत दे दिया है. इसीलिए उनका बाहर जाना मुश्किल है.

दूसरी तरफ मयंक अग्रवाल ने इस मैच में कोई बड़ी पारी तो नहीं खेली, लेकिन टीम मैनेजमेंट का उनपर खासा भरोसा है और दूसरा कोई ओपनिंग का विकल्प भी मौजूद नहीं है. इसलिए विराट के प्लेइंग 11 में आने से इन खिलाड़ियों की जगह को कोई खतरा नहीं है.

श्रेयस अय्यर को बाहर करना मुश्किल 

कानपुर मैच में डेब्यू करने वाले श्रेयस अय्यर ने अपने प्रदर्शन से सबको हैरान किया है. पहले ही मैच की पहली पारी में शतक लगाकर और फिर दूसरी पारी में 66 रन बनाकर उन्होंने अपनी जगह कम से कम अगले मैच के लिए तो कंफर्म कर ली है. कानपुर टेस्ट मैच में वो भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं.

ADVERTISEMENT

क्या पुजारा या रहाणें में से कोई होगा बाहर ?

किसी और बल्लेबाज को बाहर करने का कोई कारण न मिलने के बाद अब सिर्फ अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ही बचते हैं, जिनपर गाज गिर सकती है. अजिंक्य रहाणे भले ही कानपुर मैच में भारत के कप्तान हों, लेकिन ये भी सच है कि वो लंबे समय से फॉर्म से जूझ रहे हैं. पिछले 16 टेस्ट मैचों से उनका बैटिंग औसत सिर्फ 25 के आसपास का रहा है.

दूसरी तरफ कुछ मीडिया रिपोर्टस की मानें तो टीम मैनेजमेंट भी रहाणे को ही बाहर करने के पक्ष में है. भारत के पूर्व खिलाड़ी वसीम जाफर ने भी दोनों बल्लेबाजों के फॉर्म को लेकर आलोचना की है. उन्होंने कहा,

"पुजारा और रहाणे के फॉर्म को लेकर अगले टेस्ट में एक बड़ा प्रश्न चिह्न् बनने जा रहा है. मुझे लगता है, भारत में जब बल्लेबाज फॉर्म से बाहर होता है, तो गेंदबाज बाहर बैठता है. चयनकर्ताओं को बहुत मुश्किल स्थिति से गुजरना पड़ सकता है, जहां उन्हें दूसरे टेस्ट के लिए स्टैंड-इन कप्तान के पद को हटाना पड़ सकता है."
वसीम जाफर

डेनियल विटोरी ने कहा- "अजिंक्य रहाणे को बाहर किया जाना चाहिए"

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी का कहना है कि भारत के क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे को 3 दिसंबर से मुंबई में होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए बाहर कर दिया जाना चाहिए ताकि उन्हें खुद को रीसेट होने का समय मिल सके, जो बहुत लंबे समय से उनके लिए समस्या बनी हुई है.

कानपुर के ग्रीन पार्क में न्यूजीलैंड के खिलाफ चल रहे टेस्ट में, स्टैंड-इन कप्तान रहाणे ने क्रमश: 35 और 4 के स्कोर बनाए, जिससे उनके फॉर्म पर सवाल उठने लगे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT