RCB:क्या विराट को मैक्सवेल में मिल गया है खिताबी नाकामी का तोड़?

IPL 2021 से पहले जान लीजिए बेंगलुरु की टीम की कमजोरी और मजबूती

Published
ग्लेन मैक्सवेल
i

कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व वाली रॉयल चैलेंजर बेंगलोर आईपीएल के इस सीजन में पहली बार टूर्नामेंट का खिताब जीतना चाहेगी। दिल्ली और पंजाब की फ्रेंचाइजों के अलावा बेंगलोर ऐसी तीसरी टीम है जिसने अबतक आईपीएल का खिताब नहीं जीता है।

पिछले सीजन में बेंगलोर चार साल के लंबे अंतराल के बाद प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रहा था लेकिन पिछले कुछ वर्षो में वह अपनी लय बरकरार नहीं रख सका है। टीम का बल्लेबाजी क्रम अधिकर कोहली और एबी डीविलियर्स पर ही निर्भर रहता है।

कोहली और डीविलियर्स के सस्ते में आउट होने की स्थिति में उसका अन्य कोई बल्लेबाज बड़ा स्कोर खड़ा करने में कम ही सफल हो पाता है।

इस सीजन के लिए बेंगलोर ने अपनी टीम में ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में 37 गेंदों पर शतक जड़ने वाले केरल के बल्लेबाज मोहम्मद अजहरूद्दीन और सचिन बेबी को शामिल किया है।

मैक्सवेल के होने से बेंगलोर को मध्यक्रम में मजबूती मिलेगी। इसके अलावा उसने टीम में न्यूजीलैंड के काइल जैमिसन और ऑस्ट्रेलिया के डेनियल क्रिस्टियन को भी शामिल किया है।

बेंगलोर की टीम हाल के वर्षो में तेज गेंदबाजी आक्रमण पर निर्भर रही है। ऑस्ट्रेलिया के डेनियल सैम और क्रिस्टियन के होने से उनके पास विकल्प मौजूद हैं। इसके अलावा टीम में केन रिचर्डसन भी हैं।

बेंगलोर ने मैक्सवेल को खिलाड़ियों की नीलामी में 14.25 करोड़ रूपये जबकि जैमिसन को 15 करोड़ रूपये में अपनी टीम में शामिल किया था।

बेंगलोर की टीम में मोहम्मद सिराज और नवदीप सैनी जैसे खिलाड़ी भी मौजूद हैं।

बेंगलोर के पास स्पिन विभाग में एडम जम्पा, युजवेंद्र चहल और ऑफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर जैसे गेंदबाज मौजूद हैं। जम्पा ने पिछले सत्र में काफी कम मुकाबले खेले थे लेकिन भारत के लिए उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था और वह बेंगलोर के लिए बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

कोहली ने स्पष्ट किया था कि वह ओपनिंग बल्लेबाज के तौर पर उतरेंगे लेकिन बेंगलोर को उस वक्त झटका लगा जब पिछले सीजन में उसके शीर्ष स्कोरर रहे देवदत्त पडीकल आईपीएल शुरू होने से पहले कोरोना का शिकार बन गए।

पडीकल फिलहाल क्वारेंटीन में हैं। उन्होंने पिछले सत्र में 15 मैचों में 473 रन बनाए थे जबकि इस साल विजय हजारे ट्रॉफी में कर्नाटक के लिए खेलते हुए सात मैचों में 737 रन बनाए थे। पडीकल पहले मुकाबले से बाहर रह सकते हैं।

बेंगलोर की टीम इस प्रकार है :

विराट कोहली (कप्तान), देवदत्त पडीकल, फिन एलेन (विकेटकीपर), एबी डीविलियर्स (विकेटकीपर), पवन देशपांडे, वाशिंगटन सुंदर, डेनियल सैम्स, युजवेंद्र चहल, एडम जम्पा, शाहबाज अहमद, मोहम्मद सिराज, नवदीप सैनी, केन रिचर्डसन, हर्षल पटेल, ग्लेन मैक्सवेल, सचिन बेबी, रजत पाटिदार, मोहम्मद अजहरूद्दीन, काइल जैमिसन, डेनियल क्रिस्टियन, सूयश प्रभुदेसाई और केएस भरत।

सहायक स्टाफ : माइक हेसन (क्रिकेट ऑपरेशन निदेशक), सिमोन कैटिच (मुख्य कोच), एस श्रीराम (बल्लेबाजी और स्पिन गेंदबाजी कोच), एडम ग्रीफित (गेंदबाजी कोच), शंकेर बासु (स्ट्रेंग्थ और कंडीशनिंग कोच), इवान स्पीच्ली (फिजियो) और नवनीता गौतम (स्पोटर्स मसाज थेरेपिस्ट)।

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!