ADVERTISEMENT

T20 WC Final: ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड मैच से पहले क्यों हो रही भारत की चर्चा?

T20 World Cup में जो टीम भी भारतीय टीम के साथ ग्रुप में रही वो कभी फाइनल नहीं जीती.

Published
T20 WC Final: ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड मैच से पहले क्यों हो रही भारत की चर्चा?
i

टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) के फाइनल (T20 world Cup Final) में न्यूजीलैंड (New Zealand) का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया (Australia) से होगा. लेकिन इस मैच से पहले भारतीय टीम का नाम भी चर्चा में चल रहा है. सोशल मीडिया पर चर्चा चल रही है कि जब से आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड कप शुरू किया है. तब से जो भी भारत की टीम के ग्रुप में वो कभी वर्ल्ड कप नहीं जीता.

ADVERTISEMENT

रोचक हैं ये आंकड़े

2007 में पहली बार टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन किया गया था, जिसमें एक ही ग्रुप से भारत और पाकिस्तान ने फाइनल खेला और वो वर्ल्ड कप भारत ने जीता. इसके बाद 2009 में भारतीय टीम के ग्रुप में बांग्लादेश, आयरलैंड, वेस्ट इंडीज, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका था. ये वर्ल्ड कप पाकिस्तान ने जीता.

  • 2010 में भारत के साथ ग्रुप में अफगानिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, वेस्ट इंडीज और श्रीलंका था लेकिन ये वर्ल्ड कप इंग्लैंड ने जीता था.

  • 2012 के विश्व कप में भारतीय टीम के साथ ग्रुप में अफगानिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया की टीमें थीं. लेकिन ये वर्ल्ड कप वेस्ट इंडीज ने जीता था.

  • 2014 के वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के ग्रुप में पाकिस्तान, वेस्ट इंडीज, बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया था. लेकिन ये वर्ल्ड कप श्रीलंका ने जीता था.

  • 2016 में भारतीय टीम के साथ ग्रुप में न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया था. लेकिन ये वर्ल्ड कप वेस्ट इंडीज ने जीता था.

अब एक बार फिर भारतीय टीम के ग्रुप से न्यूजीलैंड फाइनल में पहुंची है, जिसको लेकर सोशल मीडिया पर ये चर्चा चल रही है कि अब तो ऑस्ट्रेलिया को पक्का जीता हुआ मानो. वैसे ये एक तरीके से बस आंकड़े हैं लेकिन क्रिकेट में कई खिलाड़ी भी इस तरह की बातों पर विश्वास करते आये हैं और फैंस भी इन पर काफी भरोसा जताते हैं. तो अब देखते हैं कि ये रिकॉर्ड टूटता है फिर बरकरार रहता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×