क्या टीम इंडिया को याद रहेंगे विदेशी दौरों से मिले सबक
 विराट कोहली और उनकी टीम के खिलाड़ियों को पिछली दो बड़ी हार से मिले सबक को दिमाग में रखकर मैदान में उतरना होगा
विराट कोहली और उनकी टीम के खिलाड़ियों को पिछली दो बड़ी हार से मिले सबक को दिमाग में रखकर मैदान में उतरना होगा(फोटो: IANS )

क्या टीम इंडिया को याद रहेंगे विदेशी दौरों से मिले सबक

6 दिसंबर से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू हो रही है. साल की आखिरी टेस्ट सीरीज की शक्ल-सूरत कैसी रहने वाली है, इसे समझने की कोशिश करते हैं. आपको एक हिंदी की और अंग्रेजी की कहावत सुनाते हैं. यूं तो ये दोनों कहावतें हैं, लेकिन इस वक्त टीम इंडिया के लिए बहुत काम की हैं. पहली कहावत है- दूध का जला छांछ भी फूंक-फूंककर पीता है. दूसरी कहावत है- ‘सो नियर येट सो फार’.

साल 2018 में टीम इंडिया ने जो विदेशी दौरे किए, दोनों में उसे हार का सामना करना पड़ा. दोनों सीरीज में कई मौके ऐसे आए, जब टीम जीत के काफी करीब तक पहुंची, लेकिन जीत उससे दूर चली गई.

साल की शुरुआत में भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका ने 2-1 से हराया था. साल के बीच में भारतीय टीम को इंग्लैंड में 1-4 से हार का सामना करना पड़ा. इन दोनों सीरीज का नतीजा ऐसा नहीं होना चाहिए था, लेकिन कुछ ‘क्रूशिलय’ मौकों पर टीम इंडिया से चूक हो गई.

नतीजा ये हुआ कि जमी-जमाई बाजी से हाथ धोना पड़ा. अब कंगारुओं के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में विराट कोहली और उनकी टीम के खिलाड़ियों को पिछली दो बड़ी हार से मिले सबक को दिमाग में रखकर मैदान में उतरना होगा. यूं तो ये क्रिकेट की बड़ी बुनियादी सी बातें हैं, लेकिन सच्चाई ये है कि इन्हीं बुनियादी बातों में टीम इंडिया के सबक छिपे हुए हैं.

इन चार बातों का रखना होगा ध्यान

  • पिच और मैदान के हिसाब से चुनें प्लेइंग 11
  • सलामी बल्लेबाज गेंदबाजों को थकाएं, गेंद की चमक को कम करें
  • मध्यक्रम में कम से कम दो बल्लेबाज टिककर करें बल्लेबाजी
  • पुछल्ले बल्लेबाज भी बनाए थोड़े-बहुत जरूरी रन

अब अगर आपको ये लग रहा है कि ये तो बड़ी ‘बेसिक’ सी बात है, तो आप गलत नहीं हैं, लेकिन ये भी समझ लीजिए कि इन्हीं बेसिक गलतियों की वजह से भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज हारी. सिलसिलेवार तरीके से मैचों की नतीजे याद करते हैं.

दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 2-1 से हराया

  • गलती नंबर- 1

हार्दिक पांड्या खराब प्रदर्शन के बाद भी प्लेइंग 11 में बने रहे

  • गलती नंबर- 2

किसी भी मैच में 30 रनों तक भी नहीं पहुंची पहले विकेट के लिए साझेदारी

  • गलती नंबर- 3

केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा का औसत 30 से भी कम

  • गलती नंबर- 4

ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी का बल्ले से योगदान न के बराबर

इंग्लैंड ने भारत को 4-1 से हराया

  • गलती नंबर- 1

खराब फॉर्म के बाद भी केएल राहुल लगातार प्लेइंग 11 में शामिल रहे

  • गलती नंबर- 2

10 में से सिर्फ 3 पारियों में 50 रनों के पार पहुंची पहले विकेट के लिए साझेदारी

  • गलती नंबर- 3

मध्यक्रम के बल्लेबाजों में प्रयोग हुए, कामयाबी किसी को नहीं मिली

  • गलती नंबर- 4

ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शामी का औसत 6 रन से भी कम का रहा

इन बुनियादी गलतियों से हुई हार तो याद ही होगी आपको? इंग्लैंड के दौरे पर भारतीय टीम को 31 और 60 रनों के मामूली अंतर से मैच में हार का सामना करना पड़ा. इसके अलावा आखिरी टेस्ट मैच में भी उसके पास ड्रॉ कराने का मौका था, लेकिन टीम इंडिया के बल्लेबाज चूक गए. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में तो मामला और करीबी था. भारतीय टीम पहला टेस्ट मैच 72 रन से दूसरा टेस्ट 135 रनों से हारी थी.

हो सकता है कि जब हम टीम इंडिया की गलतियों की बात कर रहे थे, तो आपको गेंदबाजों से रनों की उम्मीद करने वाली बात उनके साथ ज्यादती लगी हो. लेकिन सच ये नहीं है. सच ये है कि टेस्ट क्रिकेट में कमजोर से कमजोर गेंदबाज को तीन-चार ओवर क्रीज पर टिकने की कला आनी चाहिए.

दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के आंकडों को देखेंगे, तो आपको विरोधी टीम के गेंदबाजों के बनाए रन चुभेंगे. दरअसल, टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती ही यही है कि यहां मैच सेशन दर सेशन खेला जाता है. पांच दिन के खेल से पंद्रह सेशन में जो टीम ज्यादा सेशन जीतती है, वो मैच जीतती है.

कंगारुओं के खिलाफ ये बुनियादी बातें अगर विराट कोहली एंड कंपनी के दिमाग में रहीं, तो तैयार रहिए इस बार आपको सर्दियों के मौसम में मैदान में गर्मी देखने को मिलेगी.

ये भी पढ़ें : लुका मॉड्रिच: बरसते बम के बीच खेलने वाला लड़का आज है बेस्ट फुटबॉलर

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our क्रिकेट section for more stories.

    वीडियो