टेलीग्राम और सिगनल: WhatsApp के विकल्प कितने सुरक्षित?

वॉट्सऐप से इन दोनों में से किसी प्लेटफॉर्म पर गए तो कौन सी सुविधाओं के बिना चैट करना पड़ेगा.

Published
 वॉट्सऐप से इन दोनों में से किसी प्लेटफॉर्म पर गए तो कौन सी सुविधाओं के बिना चैट करना पड़ेगा
i

WhatsApp दुनिया के सबसे पॉपुलर मैसेंजर एप्स में से एक है, लेकिन अपनी विवादित प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट के कारण इन दिनों WhatsApp की किरकरी हो रही है. नई प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट के कारण अब WhatsApp के यूजर्स इससे बेहतर प्लेटफार्म का विकल्प खोज रहे हैं, जिसमें सिगनल #Signal और टेलीग्राम #Telegram सबसे आगे हैं. लेकिन इन दोनों में से कौन ज्यादा सुरक्षित है? और वॉट्सऐप से इन दोनों में से किसी प्लेटफॉर्म पर गए तो कौन सी सुविधाओं के बिना चैट करना पड़ेगा.

एप एनालिटिक्स फर्म सेंसर टॉवर से प्राप्त डाटा के मुताबिक 01 से 06 जनवरी के बीच सिगनल के डाउनलोड में 79 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. वहीं दूसरी ओर 2021 के पहले सप्ताह में WhatsApp के 11 फीसदी यूजर्स ने अपने फोन से इस मैसेंजिंग एप को uninstall किया है.

टेलीग्राम या सिगनल में कौन सा एप ज्यादा सुरक्षित है?

दोनों एप एंड टू एंड इंक्रिप्शन (E2E) की सुविधा देते हैं, जिसका मतलब है कि कोई भी आपकी चैट को पढ़ नहीं सकता न ही हैक कर सकता है. टेलीग्राम के मामले में एंड टू एंड इंक्रिप्शन डिफाल्ट ऑप्शन नहीं है आपको इसे Enable करना पड़ता है. जबकि सिगनल सुरक्षा को लेकर ज्यादा चिंतिंत है यह आपके मेटाडाटा को भी इंक्रिप्ट करता है. इस तरह टेलीग्राम की तुलना में सिगनल ज्यादा सिक्योर है.

आपका डाटा कैसे कलेक्ट किया जाता है?

सिगनल आपके फोन नंबर के अलावा कुछ भी कलेक्ट नहीं करता है, जबकि टेलीग्राम केवल आपके फोन से आपकी कॉन्टैक्ट इंफॉर्मेशन जुटाता है.

आप कितनी बड़ी फाइल भेज सकते हैं?

सिगनल में आपको 100 MB के अंदर की फाइल भेजने की सुविधा है, जबकि टेलीग्राम में 1.5 GB तक की फाइल सेंड और रिसीव करने की सुविधा है.

एक मैसेजे कितने लोगों को एक साथ फॉरवर्ड कर सकते हैं?

टेलीग्राम में आप एक मैसेज 100 लोगों से शेयर कर सकते हैं, जबकि सिगनल में आप एक फॉरवर्ड एक को ही शेयर कर सकते हैं.

अपने मैसेज को कैसे रिकवर कर सकते हैं?

दोनों एप में बैकअप अलग-अलग तरीके से काम करता है. सिगनल खुद अपने मैसेज मोबाइल फोन में बैकअप स्टोर करता है, जबकि टेलीग्राम क्लाउड प्लेटफार्म में बैकअप स्टोर करता है. यदि फोन गुम जाता है या बदलते हैं तो सिगनल की तुलना में टेलीग्राम के यूजर्स आसानी से डाटा रिकवर कर सकते हैं.

क्या आपकी कॉल रिकॉर्डिंग होती है?

कॉल इंक्रिप्टेड होने की वजह से दोनों में से कोई भी एप आपकी कॉल रिकॉर्ड नहीं करता है.

क्या आप टेलीग्राम और सिगनल में वर्चुअल नंबर का प्रयोग कर सकते हैं?

हां, कोई भी वर्चुअल नंबर का प्रयोग करके टेलीग्राम और सिगनल एप में आईडी बना सकता है.

टेलीग्राम और सिगनल में आपको कौन सा एप ज्यादा स्टोरेज सर्विस प्रदान करता है?

टेलीग्राम अनलिमिटेड क्लाउड स्टोरेज की सुविधा प्रदान करता है, यदि आपके फोन स्टोरेज में फ्री स्पेस नहीं है तो भी आप क्लाउड स्टोरेज को एक्सेस करके फाइल डाउनलोड कर सकते हैं. जबकि सिगनल आपके फोन स्टोरेज में डाटा स्टोर करता है.

क्या आप WhatsApp ग्रुप चैट को सिगनल और टेलीग्राम में मूव कर सकते हैं?

टेलीग्राम यह ऑप्शन आपको नहीं देता है. सिगनल एप आपको WhatsApp ग्रुप चैट को ट्रांसफर करने की अनुमति देता है.

ये है तरीका -

  1. सिगनल में ग्रुप बनाइए.
  2. ग्रुप सेटिंग में टैप करें और ग्रुप लिंक #group link पर क्लिक करें.
  3. ग्रुप लिंक ऑप्शन को ON करें और शेयर पर क्लिक करें.
  4. उसके बाद च्वॉइस में जाकर आप अपने पुराने मैसेंजर को चुने.

यदि आप अपने फोन से WhatsApp हटाने की तैयारी कर रहे हैं तो इन फीचर्स को आप यूज नहीं कर पाएंगे

  • WhatsApp में मिलने वाला स्टोरीज फीचर #stories feature न तो टेलीग्राम में है न ही सिगनल में.
  • यदि आप उन लोगों में से हैं जो हर दिन अपना कोई न कोई संदेश ब्रॉडकास्ट लिस्ट के जरिए भेजते हैं तो अन्य एप में आपको निराशा मिलेगी क्योंकि यह फीचर खासतौर पर WhatsApp द्वारा प्रदान किया जाता है.
  • यदि आप किसी खास मैसेज को Star लगाकर तुरंत रेफर करते हैं तो WhatsApp हटाने के बाद आप यह नहीं कर पाएंगे.
  • QR कोड के जरिए तुरंत किसी कॉन्टैक्ट को स्कैन करके एड करने का फीचर भी आपको नहीं मिलेगा.
  • यदि आपका फोन गुम जाएगा तो आप अपने मैसेंजसिंग एप के डेटा को रिकवर नहीं कर पाएंगे क्योंकि WhatsApp गूगल ड्राइव में डाटा का बैकअप बनाता है जबकि सिगनल आपकी चैट का बैकअप फोन पर ही बनाता है.
  • यदि आपको जीआईएफ फाइल्स #GIFs शेयर करना काफी फनी लगता है तो सिगनल में आप निराश होंगे क्योंकि वहां GIFs का ऑप्शन अभी नहीं है.
  • WhatsApp में आप अपने फ्रेंड्स और फैमिली की रियल टाइम लाइव लोकेशन ट्रैक कर सकते हैं, लेकिन यदि आप WhatsApp हटाते हैं तो इस फीचर से भी हाथ धो बैठेंगे.
  • WhatsApp में यदि किसी यूजर के खिलाफ violating की रिपोर्ट दर्ज की जाती है तो उसे बैन कर दिया जाता है, लेकिन सिगनल में आप केवल उस यूजर को ब्लॉक Block ही कर सकते हैं. आप किसी हैरसमेंट पर रिपोर्ट नहीं कर पाएंगे.
  • सिक्योरिटी को लेकर WhatsApp काफी सजग है, यह एप वर्चुअल नंबर के रजिस्ट्रेशन को ब्लॉक कर देता है. इसका मतलब है कि यह एप चलाने के लिए वैध यानी वैलिड फोन का होना जरूरी है. जबकि सिगनल में कोई यूजर इंटरनेट में उपलब्ध किसी भी वर्चुअल नंबर के जरिए अपना अकाउंट बना सकता है.
  • WhatsApp में उपलब्ध पेमेंट ऑप्शन के कारण आसानी से किसी को भी पैसे ट्रांसफर करने की बात होती है लेकिन सिगनल और टेलीग्राम में यह फीचर नहीं है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!