चैट सुरक्षित रखने के लिए स्ट्रॉन्ग पासवर्ड, पिन लगाएं: WhatsApp

WhatsApp ने साफ किया है कि वो एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के जरिए मेसेज को सुरक्षित करता है

Published
टेक और ऑटो
2 min read
WhatsApp ने साफ किया है कि वो एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के जरिए मैसेज को सुरक्षित करता है
i

WhatsApp चैट्स की सुरक्षा पर उठ रहे सवालों के बीच मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने अपने यूजर से 'सभी सिक्योरिटी फीचर का फायदा उठाने' को कहा है, जिससे कि कोई थर्ड पार्टी उनके डिवाइस पर स्टोर चैट एक्सेस न कर सके.

WhatsApp का ये बयान उन रिपोर्ट्स के बाद आया है, जिनमें दावा किया गया कि नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो किसी के फोन स्टोरेज या ऑपरेटिंग सिस्टम की क्लाउड सर्विस से WhatsApp चैट्स एक्सेस कर सकता है.

WhatsApp चैट्स की एक्सेसिबिलिटी पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि पिछले करीब एक महीने से न्यूज चैनल एक्टर रिया चक्रवर्ती और बाकी लोगों की कथित चैट्स को स्क्रीन पर दिखा रहे हैं. इस हफ्ते न्यूज चैनलों ने एक्टर दीपिका पादुकोण और उनकी मैनेजर करिश्मा के बीच 2017 की एक कथित चैट दिखाई.

हालांकि, WhatsApp ने साफ किया है कि वो एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन के जरिए मैसेज को सुरक्षित करता है, जिससे कि ‘जिन दो लोगों के बीच बातचीत हो रही है सिर्फ वही चैट पढ़ पाएं और कोई तीसरा इसे एक्सेस नहीं कर पाए, WhatsApp भी नहीं.’ 

फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने अपने बयान में कहा, "ये याद रखना जरूरी है कि लोग WhatsApp पर सिर्फ अपने फोन नंबर के साथ साइन अप करते हैं और WhatsApp को आपके मैसेज कंटेंट का एक्सेस नहीं होता है."

फोन और क्लाउड में स्टोर चैट्स तक एक्सेस

द न्यूज मिनट (TNM) ने अपनी एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया कि एजेंसियां फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स की मदद से 'गूगल ड्राइव और आइक्लाउड जैसी फोन क्लाउड सर्विस से फोन कॉल रिकॉर्ड, मेसेज, इमेज, WhatsApp चैट्स निकाल सकती हैं. इसमें वो कंटेंट भी शामिल है जो डिलीट कर दिया गया हो.'

WhatsApp का एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन प्लेटफॉर्म पर मौजूद मैसेज, कॉल और कंटेंट से संबंधित है. डिवाइस या क्लाउड में स्टोर किया गया बैकअप इस एन्क्रिप्शन के तहत नहीं आता है.  

किसी यूजर की WhatsApp चैट्स फोन में स्टोरेज फोल्डर में एक फोल्डर में बैकअप फाइल के तौर पर डाउनलोड होती हैं. ये क्लाउड सर्वर पर भी अपलोड की जा सकती हैं.

TNM की रिपोर्ट कहती है कि किसी यूजर का WhatsApp मेसेज लॉग फोन पर सेव होने वाले चैट बैकअप के जरिए भी एक्सेस किया जा सकता है.

TNM के मुताबिक, जया साहा से ग्रुप चैट्स इसी तरह निकाली गई लगती हैं. दीपिका और करिश्मा के बीच की कथित बातचीत के मामले में, जया साहा ने चैट्स का बैकअप क्लाउड पर स्टोर किया हो सकता है. 

स्टोर की गई चैट्स पर WhatsApp की सफाई

इस रिपोर्ट के बाद WhatsApp ने सफाई दी कि 'ऑपरेटिंग सिस्टम मैन्युफैक्चरर की तरफ से ऑन-डिवाइस स्टोरेज के लिए दी गई गाइडेंस को फॉलो करें.'

प्लेटफॉर्म ने सभी यूजर से अपील की है कि वो अपने बैकअप स्ट्रॉन्ग पासवर्ड, पिन, बायोमेट्रिक आईडी जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम के सिक्योरिटी फीचर से सुरक्षित करें, जिससे कि थर्ड पार्टी एक्सेस न करे सके.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!