(फोटो: द क्विंट)
| 1 मिनट में पढ़िए

यूपी चुनाव 2017: किसका साथ देगी ‘पीतलनगरी’ मुरादाबाद?

दुनियाभर में 'पीतलनगरी' नाम से मशहूर मुरादाबाद में नोटबंदी का बुरा असर पड़ा है. यहां के कारीगर परेशान हैं क्योंकि उन्हें काम नहीं मिल रहा है.

दुनियाभर में यहां से करीब 8,000 करोड़ रुपये सालाना का कारोबार होता है, लेकिन नोटबंदी की वजह से इस बार ये आंकड़ा गिर गया है. काम न होने की वजह से मजदूरी नहीं मिल पा रही है, जिससे कारीगर अपना काम छोड़ने को मजबूर हैं. इस बीच यहां सियासी पारा गर्म है.

तो पीतल से जुड़े इन लोगों का रुख किस तरफ है, जानने के लिए इस वीडियो को देखें.