बिहार चुनाव: पटना का ‘पॉलिटिकल टेस्ट’ और पब्लिक का मुद्दा क्या है?

जानिए ‘गली-गली’ में मुद्दा क्या है?

Updated

वीडियो एडिटर: अभिषेक शर्मा

न्यू मार्केट का चंद्रकला, मौर्या लोक का लिट्टी-चोखा, बुद्ध मार्ग का अनरसा, खाजा.. खेतान मार्केट की चाट और बोरिंग रोड की 'चाय पर चर्चा'.

बिहार में चुनाव कवरेज के दौरान क्विंट पहुंचा पटना की गलियों में जो खाने के लिए मशहूर है. यहां खाने का लुत्फ उठाते लोगों के साथ हमने की चुनावी चर्चा और जाना कि राजधानी का ‘पॉलिटिकल टेस्ट’ कैसा है? आप भी लीजिए पटना के ‘चुनावी चैट’ के चटखारे और जानिए मुद्दा क्या है?

कोरोना के बीच बिहार में चुनावी प्रचार जारी है.

इस बार LJP ने ऐलान किया है कि वो NDA से अलग होकर बिहार विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेगी. JDU, BJP, हम और VIP के गठबंधन NDA ने जहां एक बार फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ही सीएम का चेहरा घोषित किया है. वहीं महागठबंधन का नेतृत्व RJD नेता तेजस्वी यादव कर रहे हैं. RJD और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ रही हैं.

इनके अलावा छह दलों को मिलाकर बने ग्रांड डेमोक्रेटिक सेकुलर एलायंस ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री और रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, तो प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन ने जनअधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव को अपना सीएम कैंडिडेट बनाया है तो वहीं प्लुरल्स की पुष्पम प्रिया चौधरी ने भी खुद को बिहार का सीएम कैंडिडेट घोषित कर रखा है. इन सबके बीच हालांकि चिराग पासवान ने खुद को कभी सीएम उम्मीदवार घोषित नहीं किया है, लेकिन उनकी पार्टी LJP ने उन्हें मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताया है.

बिहार विधानसभा चुनाव 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होगा. 28 अक्टूबर के बाद तीन नवंबर और सात नवंबर को वोटिंग होगी और नतीजे की घोषणा 10 नवंबर को होगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!