नोएडा में कोरोनावायरस स्क्रीनिंग कितनी प्रभावी है

नोएडा में कोरोनावायरस स्क्रीनिंग कितनी प्रभावी है

वीडियो

वीडियो एडिटर: कुनाल मैहरा

नोएडा, उत्तर प्रदेश में अब तक 11 लोग कोरोनावायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 2 पॉजिटिव केस नोएडा के सेक्टर 137 में मेरी सोसायटी में मिले हैं. 24 मार्च 2020 को दोपहर 12 बजे से मेरी सोसायटी को पूरी तरह सील कर दिया गया.

Loading...

प्रशासन अपने काम में बेहद सक्रिय था. जैसे ही उन्हें खबर मिली कि मेरी सोसायटी में  पॉजिटिव केस का पता चला है, उसी समय नोएडा प्रशासन और CMO ऑफिस के कर्मचारी सोसायटी में पहुंच गए. उन्होंने यहां आकर पॉजिटिव मामलों के बारे में बाकायदा घोषणा की, और ये भी बताया कि कैसे सोसायटी को सील किया जाएगा.

नोएडा प्रशासन और CMO ऑफिस के लगभग 50 कर्मचारियों ने सोसायटी में रहने वाले हरेक निवासी की स्क्रीनिंग करने का बीड़ा उठाया.

नोएडा प्रशासन और CMO ऑफिस के लगभग 50 कर्मचारियों ने सोसायटी में रहने वाले प्रत्येक निवासी की स्क्रीनिंग
नोएडा प्रशासन और CMO ऑफिस के लगभग 50 कर्मचारियों ने सोसायटी में रहने वाले प्रत्येक निवासी की स्क्रीनिंग
(फोटो: त्रिदीप के मंडल)

ये भी पढ़ें : COVID-19: मेडिकल कर्मियों को 50 लाख का बीमा देगी केंद्र सरकार

आम परिस्थितियों में इस तरह की स्क्रीनिंग की जाती है, जिसमें आप जाकर लोगों से पड़ताल करते हैं. लेकिन हमारे यहां मामला बिलकुल अलग था, क्योंकि हमारी सोसायटी में 2 पॉजिटिव मामले सामने आए थे. इसलिए, ये स्क्रीनिंग थोड़े और विस्तार से की जा सकती थी.

और ये हैं कुछ अहम सवाल, जो मुझे लगता है कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को पूछना चाहिए था.

  • उन्हें पूछना चाहिए था कि पॉजिटिव पाए गए लोगों से पिछले कुछ दिनों में आपकी किसी तरह की शारीरिक नजदीकी तो नहीं रही है?
  • उनको ये भी पता लगाना चाहिए था कि कहीं हम उनके टावर, फ्लोर पर तो नहीं गए, या उनके द्वारा इतेमाल किए गए एलिवेटर का इस्तेमाल तो नहीं किया?

इन अहम सवालों को पूछकर शायद वे कुछ और लोगों तक जांच का दायरा बढ़ा सकते थे, जिनकी करीब से निगरानी की जानी चाहिए, और जिनका टेस्ट किया जाना चाहिए.

बेशक, नोएडा अथॉरिटी और हेल्थ डिपार्टमेंट बेहद अच्छा काम कर रहे हैं. वे सड़कों पर बाहर हैं, ताकि हम सुरक्षित रह सकें. और ये वीडियो उन लोगों की आलोचना के लिए बिलकुल नहीं है, जो  मुश्किल हालातों में अपना काम कर रहे हैं. ये वीडियो सिर्फ कुछ सुझाव देने के लिए है, जिससे उनका काम बेहतर हो सके. इससे उनको मामलों की पड़ताल ज्यादा सटीक तरीके से करने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें : कोरोनावायरस लॉकडाउन: मुसीबत में मजदूर, 5 चीजें तुरंत करनी होंगी

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो
    Loading...