1 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस: भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा?

भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा. कोरोना ने इस लहर में कितनी तेजी से पांव पसारे- आंकड़ों और ग्राफ से समझिए.

Updated
फिट
2 min read
भारत में 5 अप्रैल की सुबह तक कोरोना के 1,03,558 नए मामले सामने आए हैं.
i

देश में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक होती जा रही है. सितंबर 2020 के बाद ये पहली बार है, जब 24 घंटे के अंदर कोरोना के एक लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में5 अप्रैल की सुबह तक कोरोना के 1,03,558 नए मामले सामने आए हैं.
1 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस: भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा?

16 सितंबर, 2020 को दैनिक मामले चरम पर थे, जब एक दिन में 97894 मामले आए थे.

भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा. कोरोना ने पहली लहर की तुलना में इस बार कितनी तेजी से पांव पसारे- इसे आंकड़ों और ग्राफ से समझिए.

18 मार्च के बाद कोरोना की रफ्तार

पहली लहर की तुलना में मामलों में तेजी से बढ़त

1 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस: भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा?

1 लाख मामलों में सबसे तेज बढ़त

1 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस: भारत इस स्थिति तक कैसे पहुंचा?

कोरोना से निपटने के लिए 16 जनवरी से वैक्सीनेशन ड्राइव जारी है. 1 अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को भी वैक्सीन दी जा रही है. कोरोना टेस्टिंग की बात करें, तो इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक भारत में 4 अप्रैल 2021 तक कोरोना वायरस के लिए कुल 24,90,19,657 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 8,93,749 सैंपल 4 अप्रैल को टेस्ट किए गए.

लेकिन उपायों के बावजूद हम कोरोना को मात देने में पिछड़ रहे हैं. मौजूदा आंकड़े कोरोना की पहली लहर की तुलना में ज्यादा खतरनाक स्थिति के संकेत दे रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!