कोरोनावायरस की वजह से बोर्ड परीक्षाएं रद्द, क्या कहते हैं छात्र?

कोरोनावायरस की वजह से बोर्ड परीक्षाएं रद्द, क्या कहते हैं छात्र?

न्यूज वीडियो

कोरोनावायरस के कहर के बीच सीबीएसई और आईसीएसई ने बोर्ड परीक्षाएं 31 मार्च तक रद्द कर दी हैं. परीक्षाएं रद्द होने के बाद बच्चों की मिलीजुली प्रतिक्रिया सामने आ रही है. कुछ का मानना है कि इससे बच्चों पर बुरा असर होगा, वहीं कुछ छात्र कह रहे हैं कि वायरस को रोकना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए.

Loading...

जहां कुछ छात्रों को परीक्षा रद्द होने की वजह से बुरा तो लग रहा है लेकिन उनका मानना है कि इससे अच्छी बात ये होगी कि बाकी परीक्षाओं के लिए वक्त मिल जाएगा. लेकिन कुछ छात्र इससे अलग भी सोचते हैं.

“हम इतने वक्त से परीक्षा को लेकर तनाव में थे. अभी परीक्षा और लंबी चलेगी. इसके अलावा एडमिशन में भी मुश्किल आएगी. जो प्रतियोगी परीक्षाए हैं, वो भी आगे बढ़ जाएंगी. इसका मतलब है कि पढ़ते रहो-पढ़ते रहो.”
तन्वी मदान, सीबीएसई छात्र, क्लास 12

वहीं जिनकी परीक्षाएं खत्म हो गईं हैं, उन्हें रिजल्ट में देरी और अपने भविष्य की चिंता सता रही है. सीबीएसई छात्र सिद्धार्थ वर्मा बताते हैं कि उनकी परीक्षाएं खत्म हो गई हैं लेकिन उनके कई दोस्तों की परीक्षाएं खत्म नहीं हुई हैं, जिसके कारण उनकी मार्कशीट मिलने में देरी होगी.

“मैंने सोचा था कि मार्कशीट के आधार पर मैं अपनी स्ट्रीम तय कर लूंगा कि मुझे साइंस लेना है या कॉमर्स. लेकिन इस देरी की वजह से मेरे ऊपर परफॉरमेंस को लेकर दबाव रहेगा.”
सिद्धार्थ वर्मा, सीबीएसई छात्र

जहां बच्चों में इन सब बातों को लेकर घबराहट है वहीं बच्चों के माता-पिता राहत की सांस ले रहे हैं. आशीष माथुर कहते हैं कि बोर्ड का ये फैसला सही है. जिस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है आज के वक्त में, इससे मुझे नहीं लगता कि और कोई विकल्प है. हफ्ते-दो हफ्ते में जब स्थिति थोड़ी ठीक होगी तब चीजें साफ हो जाएंगी.

ये भी पढ़ें : COVID-19: जानिए साबुन कैसे करता है कोरोनावायरस का खात्मा

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो
    Loading...