जामिया: HOD पर यौन उत्पीड़न और भेदभाव का आरोप, तेज हुआ आंदोलन

जामिया: HOD पर यौन उत्पीड़न और भेदभाव का आरोप, तेज हुआ आंदोलन

न्यूज वीडियो

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के कई छात्र प्रोफेसर हफीज अहमद के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. दरअसल प्रोफेसर अहमद यूनिवर्सिटी में एप्लाइड आर्ट फैकल्टी के विभागाध्यक्ष (एचओडी) हैं. माई रिपोर्ट में पढ़िए घटना की डीटेल जानकारी.

दरअसल आंदोलन कर रहे छात्रों ने अहमद पर यौन उत्पीड़न, भेदभाव, गलत मार्किंग जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. इस बीच गुरूवार को आंदोलन हिंसक हो गया. प्रदर्शन कर रहे छात्रों से गार्ड समेत दूसरे छात्रों की भिडंत हो गई.

प्रदर्शन कर रही एक स्टूडेंट रिदम ने बताया, ‘हमें लगा प्रोफेसर शांति से पेश आएंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.5:30 बजे वे गार्ड्स और उनके बॉडीगॉर्ड बने हमारे कुछ क्लासमेट्स के साथ बाहर आए. उन्होंने हमसे लड़ना झगड़ना शुरू कर दिया.’

वहीं आकांक्षा कौशिक नाम की एक दूसरी छात्रा ने लड़कियों को बुरी तरह मारे-पीटे जाने का आरोप लगाया. कौशिक के मुताबिक, प्रोफेसर के साथ निकले लोगों लड़कियों की बुरे तरीके से पिटाई की.

यौन उत्पीड़न और मनमुताबिक मार्किंग जैसे गंभीर आरोप

प्रोफेसर अहमद पर कुछ छात्रों ने लड़कियों के यौन उत्पीड़न और मनमुताबिक मार्किंग करने के आरोप भी लगाए हैं. राहुल पासवान नाम के छात्र के मुताबिक प्रोफेसर ने लड़कियों से गलत तरीके से बात की.

वहीं कुसलुम फातिमा ने आर्टवर्क का एक लिफाफा दिखाया. उन्होंने उसे सीलबंद होने का दावा किया. फातिमा के मुताबिक, प्रोफेसर अहमद ने बिना लिफाफा खोले, मतलब बिना छात्रों का आर्टवर्क देखें, उनकी मार्किंग करवा दी.

छात्रों ने प्रोफेसर के करीबी लोगों को गलत तरीके से ज्यादा नंबर दिए जाने का आरोप लगाते हुए परीक्षा प्रणाली पर भी सवाल किया.

आंदोलन करने वाले छात्र एचओडी को हटाए जाने की मांग यूनिवर्सिटी प्रशासन से कर रहे हैं. कुछ मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि वे छात्रों की शिकायतों पर गौर कर रहे हैं. छात्रों ने प्रोफेसर पर एफआईआर भी दर्ज किए जाने की मांग की है.

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो

    वीडियो