शाहीन बाग: हिंदू,मुस्लिम,सिख,ईसाई धर्मगुरुओं ने मनाया एकता का जश्न

शाहीन बाग: हिंदू,मुस्लिम,सिख,ईसाई धर्मगुरुओं ने मनाया एकता का जश्न

न्यूज वीडियो
  • वीडियो प्रोड्यूसर- रुपशा भद्रा
  • वीडियो सोर्स- कशिश बदर
Loading...

दक्षिणी दिल्ली के शाहीन बाग में 6 फरवरी को 'जश्न-ए-एकता' कार्यक्रम आयोजित किया गया. 'जश्न-ए-एकता' के तहत हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई धर्मगुरु एक साथ आए. यहां ईसाई धर्म के गीत गाए गए, कुरान की आयतें पढ़ी गई, गुरु ग्रंथ साहिब की शिक्षा और एक यज्ञ का आयोजन किया गया.

द क्विंट से बातचीत में एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि शाहीन बाग के बारे में गलत अफवाहें फैलाई जा रही हैं, यहां की महिलाओं के बारे में गलत बोला जा रहा है. इसीलिए सभी धर्मों के लोगों ने एकसाथ आकर 'जश्न-ए-एकता' कार्यक्रम का आयोजन किया है.

हम पूरे देश को एकता का संदेश देना चाहते हैं. शाहीन बाग की महिलाओं के बारे में जो लोग बुरा भला बोलते हैं, उनके लिए संदेश है. ये सब भारतीयों का है. यहां सभी ने हवन किया है, नमाज पढ़ी है, गुरु ग्रंथ का पाठ किया है. इस कार्यक्रम में सभी धर्मों के लोग मौजूद थे. 
संत युवराज

वहीं एक दूसरे प्रदर्शनकारी ने देश में मजहब के नाम पर कोई कानून न बनाने की अपील की. उन्होंने कहा, देश में हिंदू, सिख, ईसाई सभी धर्मों के लोग भाईचारे और मोहब्बत से रहना चाहते हैं.

हिंदुस्तान के अंदर मजहब के नाम पर प्लीज कोई कानून मत बनाइए. हिंदुस्तान में हिंदू, सिख, ईसाई सभी धर्मों के लोग रहते हैं. सभी लोग भाईचारा, मोहब्बत से रहना चाहते हैं. 
शमीम अख्तर, प्रदर्शनकारी
मैं सभी बच्चों और नौजवानों को कहना चाहती हूं कि देश में किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए.
आबिदा बेगम

बता दें, दिल्ली का शाहीन बाग CAA-NRC के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का गढ़ बन गया है. यहां लगातार 50 से ज्यादा दिनों से सीएए, एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है. खास तौर से महिलाएं यहां प्रदर्शन में शामिल हो रही हैं.

ये भी पढ़ें : कोरोनावायरस: वैक्सीन बनाने में लगे वैज्ञानिक,6 महीने का टारगेट

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो
    Loading...