मैरिज हॉल में दूल्हा-पुरोहित से मारपीट,त्रिपुरा वेस्ट DM की दलीलें

त्रिपुरा के डीएम के खिलाफ बीजेपी के 5 विधायकों ने की शिकायत

Published

इसका तो अगरतला में चेहरा दिखना चाहिए, क्या नाम है तुम्हारा? एक लोक सेवक के काम में बाधा डालने के लिए इसे गिरफ्तार करो, इनको डंडा मारो!... त्रिपुरा के अगरतला में एक शादी के दौरान यही सब बातें सुनने को मिलीं. लेकिन ये सब कोई और नहीं बल्कि त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव कह रहे थे. उन्होंने अगरतला के दो मैरिज हॉल में छापेमारी के दौरान अपना आपा खो दिया और दूल्हे को भी पीटने लगे.

दूल्हे और पंडित से भी मारपीट

दरअसल अगरतला में हो रही दो शादियों में कोविड नियमों का उल्लंघन हो रहा था. क्योंकि तय वक्त के बाद भी हॉल में लोग थे. लेकिन खुद डीएम यहां धावा बोलने पहुंच गए. जो मिला, उसे थप्पड़ मारने लगे और पुलिस से डंडे मारने का ऑर्डर देने लगे. यहां तक डीएम साहब ने दूल्हे और शादी के पंडित को भी नहीं बख्शा.

डीएम ने कहा कि इन सबको सेक्शन 188 के तहत बुक कीजिए और लॉकअप में ले जाइये. जब लोगों ने कहा कि सर, हमारे पास परमिशन है. तो डीएम ने कहा कि परमिशन शादी के लिए है, 10 बजे के बाद शादी के लिए नहीं. साथ ही मैरिज हॉल पर अगले एक साल तक प्रतिबंध की बात कही. डीएम ने कहा कि,

“ये सभी लोग जो यहां इकट्ठे हुए हैं, उन्होंने धारा 144 के तहत आदेश का उल्लंघन किया है. उन पर आईपीसी की धारा 188 के तहत मुकदमा चलाया जाएगा. इन सभी को अभी गिरफ्तार किया जाएगा.”

पुलिस अधिकारियों को कहा- मैं तुम्हारा डीएम हूं

अब डीएम साहब को इतना गुस्सा आया कि लोगों के बाद वो वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों पर भी रौब झाड़ने लगे. डीएम ने पुलिस कर्मियों को कहा कि, आप सभी इन लोगों के साथ शामिल हैं. मैं इधर थोड़े देर पहले गया था. पुलिस की गाड़ी यहां खड़ी थी. फिर भी यहां ये सब चल रहा है. मतलब पुलिस इनके साथ मिली हुई है. दुर्भाग्य से मुझे पश्चिम अगरतला पुलिस स्टेशन ओसी के तत्काल निलंबन की सिफारिश करनी पड़ेगी. जब पुलिस अधिकारी ने कुछ बोलना चाहा तो डीएम ने कहा कि, मैं तुम्हारा डीएम हूं, समझे...

हालांकि शादी समारोह में मौजूद लोगों का दावा है कि उनके पास रात 11.30 बजे तक समारोह जारी रखने का लिखित आदेश था. ये आदेश डीएम ऑफिस से ही लिया गया था. उन्होंने बताया कि डीएम ने बिना आदेश पढ़े ही उसे फाड़कर हमारे मुंह पर मार दिया.

जब डीएम अपने पूरे ताव में थे, तो जिस लड़की की शादी हो रही थी, उसके भाई ने डीएम से कहा कि शुम मुहूर्त 11:30 का था, इस पर डीएम ने कहा कि, फिर आप इसे अपने कमरे के अंदर अपने घर पर कीजिए. मैरिज हॉल में नहीं, आप कृपया ऑर्डर 144 को ध्यान से पढ़िए. आप पढ़े-लिखे लगते हैं. एक अनपढ़ की तरह बात मत कीजिए . इस पर लड़की के भाई ने बताया कि मैं एक सर्जन हूं, इस तरह बात मत कीजिए, तो डीएम का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और कहा कि इस आदमी को पकड़ो, ये लोक सेवक के ड्यूटी में बाधा डाल रहा है.

इस वीडियो के वायरल होने के बाद डीएम को आलोचना का सामना करना पड़ा. स्थानीय लोगों ने डीएम के बर्ताव पर आपत्ति जताई. साथ ही 5 बीजेपी विधायकों ने डीएम के खिलाफ मुख्य सचिव को पत्र लिखकर कार्रवाई की बात कही.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!