प्रज्ञा ठाकुर, चुनाव जीतने के बाद शर्तें क्यों लगा रही हैं?

पब्लिक की तो आप सुन नहीं रहीं, कम से कम अपनी पार्टी की तो सुन लीजिए...

Updated23 Jul 2019, 11:36 AM IST
वीडियो
2 min read

वीडियो एडिटर: आशुतोष भारद्वाज

कैमरापर्सन: सुमित बडोला

प्रज्ञा ठाकुर को भोपाल की जनता कभी दिल से माफ नहीं कर पाएगी!

बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुरआपको ये वीडियो जरूर देखना चाहिए.

संसद के बाहर सफाई करते हुए ये लोग भी आपकी तरह सांसद हैं. जनता ने इन्हें बेशक ये सोचकर तो संसद नहीं पहुंचाया था कि उनके नेता वहां सफाई करें, झाड़ू लगाएं, लेकिन लोगों ने अपने सांसदों को ऐसा करते देख तारीफ की क्योंकि ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा था.

कमाल है, पीएम चला रहे हैं स्वच्छ भारत अभियान और आप कह रही हैं कि नाली और शौचालय साफ करवाना आपका काम नहीं है.

स्वच्छता रैंकिंग में भोपाल पिछले 2 बार से लगातार दूसरा स्थान हासिल कर रहा था.

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में भोपाल रैंकिंग में लुढ़ककर 19वें स्थान पर पहुंच गया है. हालांकि सबसे साफ राजधानी में भोपाल अब भी नंबर वन जरूर है.

आप भोपाल की सांसद हैं, अभी भी वक्त है संभल जाइए कहीं आपके शहर को मिला सबसे साफ राजधानी का सम्मान भी न छिन जाए!

अगर जनता इलाके में साफ-सफाई की कमी अपने सांसद को बताती है तो इसमें क्या बुराई है? क्या आपने सांसद बनने से पहले चुनाव प्रचार में बताया था कि आपसे किस-किस काम के लिए संपर्क करना है और किस काम के लिए नहीं? अगर ये डिस्क्लेमर नहीं दिया था तो चुनाव जीतने के बाद शर्तें क्यों लगा रही हैं, ये तो चीटिंग है ना!

आपने कहा कि आप सफाई करवाने के लिए नहीं बनी हैं तो फिर हम ये जरूर जानना चाहेंगे कि आपके ‘ईमानदारी से किए जाने वाले काम’ की लिस्ट में क्या-क्या शामिल है?

  • राष्ट्रपिता और स्वच्छता के पुजारी महात्मा गांधी के हत्यारे का महिमामंडन करने के लिए जनता ने आपको चुना है?
  • 2008 में मुंबई हमले में शहीद- हेमंत करकरे की शहादत को बदनाम करने के लिए जनता ने आपको चुना है?
  • विवाद उपजाने वाले बयान देने और फिर माफी मांगने के लिए आपको जनता ने चुना है?

पीएम ने कह रखा है कि आपको वो मन से- दिल से कभी माफ नहीं कर पाएंगे. राष्ट्रपिता के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने पर पार्टी ने आपके खिलाफ क्या एक्शन लिया, पता नहीं लेकिन इतना जान लीजिए इसके लिए देश की जनता आपको कभी माफ नहीं करेगी. हमें ये भी नहीं मालूम कि आपकी पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आपके इस बयान के बाद दिल्ली में पार्टी हेडक्वार्टर बुलाकर क्या कहा लेकिन आप ऐसे काम करती ही क्यों हैं कि आपकी पार्टी ही आपको फटकार लगाती है?

पब्लिक की तो आप सुन नहीं रहीं, कम से कम अपनी पार्टी की तो सुन लीजिए...

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 23 Jul 2019, 10:13 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!