ADVERTISEMENT

खुदकुशी से किसान की मौत, नोट में लिखा- कृषि कानून वापस ले सरकार

किसान आंदोलन में अब तक दर्जनों किसान जान गंवा चुके हैं

Updated
भारत
2 min read
प्रतीकात्मक तस्वीर
i

दिल्ली में कृषि कानूनों के विरोध में जारी आंदोलन में एक किसान और किसान ने खुदकुशी कर जान दे दी. हरियाणा के 50 वर्षीय किसान ने रविवार को टिकरी-बहादुरगढ़ सीमा पर फांसी लगा ली. मृतक की किसान की पहचान हिसार जिले के राजबीर के तौर पर हुई है.

ADVERTISEMENT

सुसाइट नोट में की सरकार से अपील

किसान राजबीर ने फांसी लगाने से पहले लिखे सुसाइट नोट में सरकार से तीनों कृषि कानून वापस लेने की अपील की. इस सुसाइड नोट में लिखा था, “सरकार से मेरी हाथ जोड़कर विनती है, मरने वाले की आखिरी इच्छा पूरी की जाती है, मेरी आखिरी इच्छा है कि ये तीनों कृषि कानून सरकार वापस ले और किसानों को खुशी-खुशी घर भेज दे.”

मृतक किसान का सुसाइड नोट
मृतक किसान का सुसाइड नोट
राजबीर ने सुसाइट में आगे लिखा, “किसान भाइयों मेरा बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए, तीनों काले कानून सरकार को वापस कराके, घर जाएं. सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले और किसानों को MSP की गारंटी दे.”

पिछले साल दिसंबर से यूपी, पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले. हालांकि सरकार ने बातचीत के जरिए किसानों की समस्याओं का समाधान करने की बात कही है, लेकिन अभी तक इसे लेकर कोई सहमति नहीं बन पाई है और किसानों का आंदोलन जारी है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT