ADVERTISEMENT

दुनिया का सबसे अमीर देश बना चीन, अमेरिका को पीछे छोड़ा

चीन की नेट वर्थ में पिछले 2 दशकों में 17 गुना का इजाफा हुआ है.

Published
<div class="paragraphs"><p>दुनिया का सबसे अमीर देश बना चीन-रिपोर्ट</p></div>
i

अमेरिका (America) को पछाड़कर चीन (China) दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है. मैकिंजी ग्लोबल इंस्टिट्यूट की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. मैकिंजी गलोबल इंस्टिट्यूट पिछले दशकों में दुनिया का धन-संपत्ति तीन गुनी बढ़ गई है.

ADVERTISEMENT

ब्लूमबर्ग के अनुसार मैकिंजी ग्लोबल इंस्टिट्यूट ने दुनियाभर के 10 देशों की बैलेंस शीट की जांच करके यह रिपोर्ट तैयार की है. दुनियाभर की आमदनी का 60 फीसदी इन्हीं देशों के हिस्से में आता है.

दुनिया के नेटवर्थ की बात करें तो यह साल 2000 में 156 ट्रिलियन डॉलर था, जो 2020 में तिगुना बढ़कर 514 ट्रिलियन डॉलर हो चुका है.

17 गुना बढ़ गई चीन की दौलत

पिछले 20 सालों में चीन की दौलत तिगुनी हो गई है. साल 2000 में उसकी नेटवर्थ 7 ट्रिलियन डॉलर थी, जो 2020 में बढ़कर 120 ट्रिलियन डॉलर हो गई है. अमेरिका की बात करें तो इस दौरान अमेरिका की नेट वर्थ बढ़ 90 ट्रिलियन डॉलर हो गई है.

ADVERTISEMENT
इस रिपोर्ट में एक और बड़ी बात सामने आई है. चाहे चीन हो या अमेरिका, दोनों देशों में दो तिहाई से ज्यादा संपत्ति पर 10 प्रतिशत अमीर वर्ग का कब्जा है.

रियल एस्टेट का दबदबा

मैकिंजी की रिपोर्ट कहती है कि दुनिया की कुल संपत्ति में 68 फीसदी हिस्सेदारी रियल एस्टेट सेक्टर की है. इनमें इन्फ्रास्ट्रक्चर, मशीनरी और इक्विपमेंट, इंटेलेक्टुअल प्रॉपर्टी और पेटेंट भी शामिल है. वैश्विक संपत्ति के कैलकुलेशन में फाइनैंशल एसेट्स को शामिल नहीं किया गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT